रतन देवासी का अपनों को बचाने के लिए एईएन को फंसाने का आरोप

ratan dewasi
ratan dewasi

सबगुरु न्यूज-रानीवाड़ा। एक वर्ष बीत जाने के बावजूद भी जैतपुरा व कोड़ी नदी पर पुलिया निर्माण नही होना सरकार के गैरजिम्मेदार रवैया को दर्शाता है। दोनांे पुलिया सम्पूर्ण जिलेवासियों के आवागमन के लिए बहुत जरूरी है। यह बात पूर्व उपमुख्य सचेतक व कांग्रेस के राष्ट्रीय सदस्य रतन देवासी ने कही।

देवासी ने बताया कि गुजरात, मुम्बई सहित समस्त जगह जाने का मुख्य मार्ग यही है। खास कर प्रवासियों, किसानों, व्यपारीयांे व स्वास्थय सेवाओं के लिए जाने वाले जिलावासियों के लिए।

देवासी ने बताया कि पिछले वर्ष बाढ़ के समय क्षतिग्रस्त हुए समस्त जगह के लिए राज्य की मुख्यमंत्री ने जालोर में कहा था कि प्राथमिकता पर इन मार्गो को सम्पूर्ण तरीकों से ठीक कर लिया जाएगा मगर अब तक कुछ नही हुआ।

देवासी ने बताया कि स्थानीय विधायक हर वक्त कहते है कि उन्होंने क्षेत्र में सड़कों का जाल बिछाया है। निश्चित तौर पर बिछाया होगा लेकिन व जाल चंद महीनों में प्रथम बारिश में ही कैसे बिखर रहा है व हम देख रहे है व समाचार पत्रों में भी पढ़ रहे है। इससे साफ पता चलता है कि इस जाल में कितना बड़ा भ्रष्टाचार हो रहा है। स्वंय के व्यक्तियों को बचाने के लिए AEN को फंसाया जाता है।

देवासी ने बताया कि सरकार व विधायक की विफलता तो इसमें ही साबित हो जाती है कि वे बाढ़ में तबाह हुए इन पुलियों को ठिक नही करा पाये ना ही सैंक्शन ला पाये।

देवासी ने बताया कि उनकी जानकारी में आया है कि वर्तमान पुलिया के हिसाब से सैंक्शन देने की सरकार ने मनाई कर दी है। व पाईप डाल कर रपट बनाने की योजना है। अगर ऐसा हुआ तो पूर्व सरकार की योजना व जन प्रतिनिधियों की मेहनत पर धोका है।

देवासी ने बताया कि अगर पुलिया निर्माण में कोई परिर्वतन किया तो वे जन आंदोलन करेंगे। देवासी ने स्थानीय विधायक से पुलिया को उसी स्थिति में बनाने की मांग की जैसे पूर्व में बने हुए थे। देवासी ने साथ ही स्थानीय विधायक से नई बनी सड़को का हर जगह बिखरने व टूटने जैसे मामलों की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की।

देवासी ने बताया कि दोनों पुलिया प्रकरण व सड़कों में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर जल्द जन आंदोलन करेंगे।