किसानों को 66 हजार करोड़ रुपये का बिना ब्याज के ऋण मुहैया कराया: राठौड़

किसानों को 66 हजार करोड़ रुपये का बिना ब्याज के ऋण मुहैया कराया: राठौड़
किसानों को 66 हजार करोड़ रुपये का बिना ब्याज के ऋण मुहैया कराया: राठौड़

जयपुर | राजस्थान के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा है कि राज्य में किसानों को 66 हजार करोड़ रुपये का बिना ब्याज के ऋण मुहैया कराया गया है।

रोठौड़ अाज चूरू में केन्द्रीय सहकारी बैंक लिमिटेड के तत्वावधान में ग्राम खींवासर में फसली ऋण माफी योजनान्तर्गत आयोजित पायलट ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण शिविर में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने लघु, सीमान्त व बड़े ऋणी किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान कृषक ऋण राहत आयोग का गठन किया है, जो किसानों की कृषि संबंधी समस्त समस्याओं की सुनवाई कर त्वरित समाधान करेगा।

उन्होंने कहा कि जिले में किसानों की सहायता के लिए स्वीकृत 62 करोड़ रुपये में से चूरू ब्लॉक में कृषकों को 41 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई गई है। उन्होंने कहा कि फसली ऋण योजनान्तर्गत जिले में 88 हजार 828 किसानों को 208 करोड़ रुपये का ऋण माफ कर लाभान्वित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग से ऋण प्राप्त किसानों के 80 लाख रुपये तक का ऋण माफ किया गया है। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों के कल्याणार्थ संचालित विभिन्न योजनाओं के तहत आयोजित तीन शिविरों में चूरू ब्लॉक के श्रमिक परिवारों को 14 करोड़ रुपये की सहायता राशि वितरित की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों की साख योजना अनुसार उन्हें पुनः ऋण मुहैया कराया जायेगा।

इस अवसर पर उन्होंने खींवासर सहकारी सेवा समिति के 531 में से 423 ऋणी काश्तकारों को फसली ऋण माफी योजनान्तर्गत 81 लाख रुपये का ऋण माफी वितरण प्रमाण पत्र वितरित किये। उन्होंने कहा कि शेष 108 काश्तकारों द्वारा अपने आधार कार्ड को भामाशाह पोर्टल में दर्ज कराते ही ऋण माफी प्रमाण पत्र जारी कर दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि 531 काश्तकारों का कुल एक करोड़ 25 लाख रुपये का ऋण माफ होगा।