श्रीगंगानगर की छात्रा गीता जयपाल रही प्रदेश में अव्वल

श्रीगंगानगर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर द्वारा आज घोषित किए गए 12वीं कला वर्ग के परीक्षा परिणाम में श्रीगंगानगर जिले में पाकिस्तान सीमा पर स्थित जोरावरसिंहपुरा के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल की छात्रा गीता जयपाल ने पूरे राज्य में अव्वल स्थान प्राप्त किया है।

शिक्षा राज्यमंत्री एवं श्रीगंगानगर जिले के प्रभारी मंत्री गोविन्दसिंह डोटासरा ने गीता और उसके परिवार वालों को फोन कर जैसे ही इसकी जानकारी दी, इस परिवार की और समूचे गांव वालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

श्रीकरणपुर तहसील क्षेत्र के चक 55 एफ के निवासी मंगलाराम की पुत्री गीता की इस उपलब्धि से इलाके का गौरव बढ़ा है। गीता ने कहा कि वह भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी बनना चाहती हैं। आगे भी वे अपनी पढ़ाई सरकारी शिक्षण संस्थान में ही जारी रखेंगी।

गीता जयपाल ने 500 में से 497 (99.40) अंक हासिल किए हैं। उसने तीन विषयों- हिन्दी, राजनीतिक विज्ञान एवं पंजाबी साहित्य में शत प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। अंग्रेजी में 99 प्रतिशत और इतिहास में 98 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं।

गीता जयपाल ने बताया कि वह शुरू से ही सरकारी स्कूल में अध्ययनरत रही है। दसवीं कक्षा में उसने 91.17 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे। इस बार 95 प्रतिशत अंक आने की उम्मीद थी। उसे बिल्कुल अनुमान नहीं था कि वह 99 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करेगी और प्रदेश में अव्वल रहेगी।

गीता के परिवार में उसके माता-पिता और तीन भाई-बहन हैं। वह तीन बहनों में मझली है। गीता ने अपनी इस उपलब्धि के लिए स्कूल की शिक्षक परमजीतसिंह, गुरप्रीत कौर और प्राचार्य महेन्द्र चौधरी को श्रेय दिया।