अजमेर में यहां कर्फ्यू में भी सब कुछ मिलता है…

अजमेर। कोरोना महामारी से निपटने के लिए राजस्थान सरकार ने पिछले 23 दिनों से बाजार बंद करा रखे हैं। केवल जरूरी चीजें बेचने की अनुमति दे रखी है, वह भी केवल 5 घन्टे। रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा लागू कर रखा है। राज्य में सोमवार से सम्पूर्ण लॉकडाउन भी लगाया जा रहा है। लेकिन अजमेर के रामगंज बाजार में सरकार के आदेश, कर्फ्यू और लॉकडाउन सब बेअसर साबित हो रहे हैं।

यहां आपको नल-बिजली के सामान से लेकर रंग, डिस्टेम्बर, सीमेंट, पुट्टी, पाइप, मिक्सी, कूलर, पंखे आदि सब कुछ मिल जाएगा। हां, इसके लिए आपको मनमानी कीमत जरूर चुकानी पड़ेगी।

दरअसल, यहां पुलिस चौकी के सामने गुप्ता होटल के नीचे गुप्ता इलेक्ट्रॉनिक, ट्रेडर्स, सेनेट्री आइटम आदि की तीन दुकानें हैं जो बाहर से तो बंद हैं लेकिन धंधा चालू है। तीनों दुकानों के अंदर से घर और गोदाम का रास्ता है जहां से माल लाकर ग्राहकों को मनमानी कीमतों पर बेचा जा रहा है।

हैरत की बात यह है कि सामने ही चौकी है और पुलिस को भी पूरी जानकारी है लेकिन कोई कुछ कार्रवाई नहीं कर रहा है। बाहर से इन दुकानों पर ताले लगे हैं लेकिन दुकानदार वही ग्राहकों के इंतजार में खड़े रहते हैं। ग्राहक आकर जो भी चीज मांगता है, ये दुकानदार अंदर से लाकर मुंहमांगी कीमत पर दे देते हैं।

पिछले कई दिनों से इसी तरह यहां सरकार के आदेश को ठेंगा दिखाया जा रहा है। यहां तक कि पिछले साल भी लॉकडाउन के दौरान यहां इसी तरह से धंधा चलता रहा और इस बार भी चल रहा है।

यूं तो शहरभर में इंसिडेंट कमांडर बिना अनुमति खुली दुकानों को सीज करने का दावा कर रहे हैं, लेकिन रामगंज के मुख्य बाजार में खुलेआम प्रशासन की आंखों में धूल झोंक रहे इन दुकानदारों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा है।