जयपुर में भाजयुमो कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन में पूनियां धरने पर बैठे

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) पेपर लीक मामले की केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच एवं शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर आज प्रदर्शन किया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां के आह्वान पर भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु शर्मा के नेतृत्व में युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने जयपुर में बाइस गोदाम सर्किल पर प्रदर्शन किया। इससे पहले कार्यकर्ता भाजपा प्रदेश मुख्यालय से रैली के रूप में बाइस गोदाम सर्किल पहुंचे जहां उन्होंने राज्य की गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

डा पूनियां भी प्रदर्शन में बाइस गोदाम सर्किल पहुंचे और भाजयुमो कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रीट अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने के लिये मजबूती से लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं को सिविल लाइंस फाटक की तरफ आगे नहीं बढ़ने देने पर मौके पर ही धरना शुरु कर दिया गा जिसमें डा पूनियां भी शामिल हुए।

बाद में युवा मोर्चा ने पुलिस प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल कलराज मिर के नाम चार सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन दिया। इससे पहले धरने के दौरान डा पूनियां ने कहा कि उनकी जब तक मांग पूरी नहीं होगी प्रदेश अन्य सभी हिस्सों में इस प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि इसके बाद दिसंबर में सरकार को घेरा जायेगा और उससे जवाब मांगा जायेगा।

उन्होंने कहा कि आंदोलन एक दिन में समाप्त नहीं होता, यह सिर्फ युवाओं का आगाज है, अंजाम अभी बाकी है। जब-जब युवाओं ने सरकार से लोहा लिया है, सरकारों को झुकना पड़ा है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 के विधानसभा चुनाव में जनविरोधी कांग्रेस सरकार का युवा और किसान सूपड़ा साफ कर देंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दस दिन में किसानों का पूरा कर्जा माफ करने का वादा किया था, लेकिन वह चमत्कार अभी तक नहीं हुआ। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी उन्हीं के अनुयायी हैं, राजस्थान के किसानों का कर्जा जो का त्यों है। सत्त्ता में आने से पहले रोजगार और बेरोजगारी भत्ता देने का वादा करने वाली कांग्रेस सरकार सत्ता में आने पर अपने वादों से मुकर रही है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि रीट परीक्षा में हुई धांधली पर कांग्रेस सरकार युवाओं के भविष्य से खिलवाड कर रही है, लेकिन भाजपा इसके विरोध में मुखर होकर बोल रही है और सड़क से सदन तक पुरजोर तरीके से लड़ाई लड़ रही है।

भाजपा की मांग है रीट पेपर लीक धांधली की जांच के लिये मुख्यमंत्री सीबीआई जांच की सिफारिश करें और शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा को बर्खास्त करें, जिससे निष्पक्ष जांच हो सके।

इस अवसर पर हिमांशु शर्मा ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार को युवा विरोधी बताते हुए आरोप लगया कि युवाओं के हित में वादे करके गहलोत सत्ता में आए, लेकिन अब सत्ता के नशे में चूर होकर युवाओं पर अत्याचार कर रहे हैं।