कन्हैयालाल के कातिल रियाज से भाजपा का कोई लेना देना नहीं : एम सादिक

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष एम सादिक खान ने कहा है कि उदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांड मामले के मुख्य आरोपी रियाज का भाजपा से कोई लेना देना नहीं हैं।

खान ने रियाज के भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया के साथ फोटो होने के मामले में आज यहां प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कार्यक्रमों में बहुत से लोग आते हैं और किसी का नेता के साथ फोटो होना यह तय नहीं करता कि वह पार्टी का कार्यकर्ता हैं। उन्होंने अपनी पार्टी की सदस्यता की रसीद दिखाते हुए कहा कि अगर कोई पार्टी का कार्यकर्ता है तो उसके पास इस तरह की रसीद होगी।

उन्होंने कहा कि कन्हैयालाल हत्याकांड का आरोपी रियाज के मन में खोट हैं जभी तो उसने वर्ष 2013 में अपनी मोटरसाइकिल के नम्बर 2611 लिया जो मुम्बई आतंकवादी हमले की तारीख हैं। उन्होंने कहा कि मन में कोई खोट रहा होगा तभी यह नम्बर अतिरिक्त पैसे देकर लिया गया।

उन्होंने कहा कि क्या पता वह कार्यक्रमों में भीड़ में रैकी करने आया हो। उन्होंने कहा कि कानून अपना काम करेगा और इन आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए ताकि एक नजीर पेश हो।

उन्होंने कहा कि इस मामले को किसी धर्म से नहीं जोड़ा जा सकता है क्योंकि किसी भी धर्म में नहीं हैं कि निर्दोष को मार दो। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब कन्हैयाला ने सुरक्षा मांगी, तब उन्हें सुरक्षा दी जाती तो आज यह दिन देखना नहीं पड़ता।

घटना के बाद आज प्रदेश में नेटबंद हैं और प्रदेश के लोग परेशान हैं और जो माहौल बना है उसके लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सत्ता का लालच छोड़कर प्रदेश में कानून व्यवस्था कायम करनी चाहिए।

इस अवसर पर मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मोहम्मद हुसैन खान ने कहा कि उदयपुर की घटना को कलंकित एवं सबसे घृणित घटना बताते हुए कहा कि मुस्लिम समाज ने इसकी निंदा की हैं और इसके खिलाफ आक्रोशित भी हैं कह रहे है कि घटना के आरोपियों को फांसी होनी चाहिए।

उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2014 के बाद अल्पसंख्यक समाज के लिए इतना काम किया कि देश की आजादी के बाद इससे पहले कभी नहीं हुआ। एक सवाल के जवाब में कहा कि छोटी पार्टियां मुस्लिमों को बरगला रही है और उन्हें लग रहा है कि मुस्लिम भाजपा की तरफ बढ़ रहा है।

उन्होंने उत्तरप्रदेश का उदाहरण देते हुए कहा कि आजमगढ़ देख लीजिए। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में मुस्लिम क्षेत्रों में 80 प्रतिशत भाजपा को सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि मोर्चा बैठके लेकर समाज को समझाने का प्रयास भी करेंगे ताकि वह किसी के बहकावें में नहीं आए।