‘जियोमीट’ पर 100 लोग को एक साथ असीमित फ्री वीडियो कॉलिंग सुविधा

नई दिल्ली। वीडियो कांफ्रेंसिंग बाजार में रिलायंस जियो ने ‘जियोमीट’ के नाम से नया ऐप उतारा है जिसमें मेजबान समेत 100 लोग एक साथ असीमित समय तक फ्री वीडियो कांफ्रेंसिंग कर सकेंगे।

जियोमीट में वीडियो कांफ्रेंसिंग की कोई समय सीमा तय नहीं की गई है जबकि जूम ऐप पर फ्री वीडियो कॉलिंग के लिए मात्र 40 मिनट की अवधि होती है। इससे अधिक समय के लिए वीडियो कॉलिंग या कांफ्रेंसिंग करने के लिए बैठक मेजबान को प्रति माह 15 डॉलर का भुगतान करना होता है। यह राशि सालाना 180 डॉलर यानी करीब 13500 रुपए होती है जबकि जियोमीट एप के उपयोग पर कोई खर्च नहीं होगा।

जियोमीट पर ग्राहक नि:शुल्क 24 घंटे तक बातचीत कर सकते हैं। छोटी अवधि की समयसीमा नहीं होने के कारण इसे ऐप इस्तेमाल करने वालों के बीच पासा पलट देने वाले एप के रुप देखा जा रहा है। सीमित समय सीमा के कारण जूम पर वीडियो कांफ्रेंसिंग करने वालो को हर 40 मिनट में दोबारा लॉगइन करना पड़ता है। इसे लेकर ग्राहक संतुष्ट नहीं थे।

उदाहरण के लिए घर से कार्य करने पर कार्यालय की महत्वपूर्ण बैठक या तो 40 मिनट से पहले समाप्त करनी पड़ती थी या फिर दोबार लॉग इन करना होता था। अन्यथा सालाना करीब 180 डॉलर का शुल्क चुकाओ। शिक्षा क्षेत्र में भी जहां ससांधन सीमित है, वहां जूम ऐप से आनलाइन कक्षाओं में समय प्रतिबंध की वजह से बहुत दिक्कतें आती थीं। कंपनी का कहना है कि समय सीमा के अलावा भी जियोमीट में जूम के तुलना में सुविधाएं काफी अधिक हैं।

जियो मीट में वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रतिभागी डबल क्लिक करके किसी भी अन्य प्रतिभागी की वीडियो विंडो को बड़ा कर सकते हैं,जबकि जूम में यह सुविधा नहीं है। इसके अलावा जियोमीट में अगर मेजबान चाहे कि किसी एक संस्था के लोग ही वीडियो कांफ्रेंसिंग की मार्फत बैठक में शामिल हों तो वह संस्थान की मेल आईडी से लॉगइन कर सकता है। इससे संस्थान के अलावा अन्य कोई भी बैठक में नहीं आ पाएगा। जूम में यह सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।

जूम एप में अगर आप को अचानक बाहर जाना पड़ जाए और आप चाहते हैं कि आप बिना डिस्कनेक्ट हुए लैपटॉप से मोबाइल पर वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े रहे तो यह संभव नहीं है जबकि जियोमीट पर आपको यह सुविधा उपलब्ध है। जियोमीट में चाहें जिस भी डिवाइस से बिना डिस्कनेक्ट हुए विडियो कांफ्रेंसिंग से ज़ुड़े रह सकते हैं। जियोमीट को किसी भी प्लेटफॉर्म से व किसी भी डिवाइस से एक्सेस किया जा सकता है।

अगर आप मोबाइल से कनेक्टेड है तो जूम ऐप में आप मात्र चार प्रतिभागियों को एक बार में देख सकते हैं शेष को देखने के लिए आपको स्क्रॉल करना पड़ता है जबकि जियोमीट में एक बार में आठ प्रतिभागियों को देखा जा सकता है।

सुरक्षा के मामले में भी जियोमीट, जूम से बेहतर है। फरवरी और मार्च माह में सरकार की तरफ से जूम को असुरक्षित प्लेटफॉर्म माना गया था। जियोमीट पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए अब किसी इनवाइट कोड की जरूरत नही पड़ेगी। 100 यूजर्स तक एक बार में जियोमीट पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़ सकते हैं। जियोमीट लगभग सभी तरह के डिवायस पर बखूबी काम करता है।

जियोमीट को गूगल प्लेस्टोर या एप्पल स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। यह एंड्रायड और एप्पल पर समान रूप से काम करता है। जियोमीट माइक्रोसॉफ्ट विंडोस को भी सपोर्ट करता है इसलिए उपयोगकर्ता इसे डेस्कटॉप या लेपटॉप पर भी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।