सरस्वती बालिका उमा विद्या मंदिर में नवनिर्मित भवन, सभागार एवं तरणताल का लोकार्पण

जयपुर। आदर्श शिक्षा परिषद समिति के अंतर्गत संचालित सरस्वती बालिका उमा विद्या मंदिर सेक्टर 2 जवाहर नगर जयपुर में बुधवार को विद्यालय परिसर में नवनिर्मित भवन, विशाल सभागार एवं तरण ताल का लोकार्पण किया गया।

यह आयोजन विद्या भारती के संगठन मंत्री शिवप्रसाद के सान्निध्य में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उद्योगपति एवं समाजसेवी लीलम चन्द सिपानी थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्लोब ट्रांसपोर्ट कम्पनी के निदेशक राधेश्याम अग्रवाल ने की।

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य एवं क्षेत्रीय प्रचारक दुर्गादास ने अपनी ज्ञान गंगा द्वारा सभी का मार्गदर्शन किया। उन्होंने भारत की कमजोर शिक्षा प्रणाली के बारे में बताते हुए कहा कि आज हमारी शिक्षा व्यवस्था ऐसी है जिसमें विद्यार्थियों का शरीर तो भारतीय है लेकिन मानसिक रूप से वे कल अंग्रेजों के समान खड़े होंगे। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद भारत ने दूसरे देशों से कई तकनीकें सीखी हैं। वह इजराइल जैसे देश से रक्षा के सूत्र सीख रहा है।

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलन से की गई। विद्यालय के सभी प्रबुद्धजनों का परिचय विद्यालय के व्यवस्थापक मनोहर लाल नागपाल ने कराया। कार्यक्रम में पधारे सभी महानुभावों, अतिथि गणों एवं अभिभावकों का आभार व धन्यवाद विद्यालय के अध्यक्ष सम्पत लाल सुराणा द्वारा ज्ञापित किया गया। अंत में सभी के वन्देमातरम गायन के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।

गौरतलब है कि हिंदी विद्यालयों में नवीनतम सुविधाएं उपलब्ध करवाने में विद्यालय का अग्रणी स्थान रहा है। बालक बालिकाओं के शैक्षिक उन्नयन के साथ उनके शारीरिक एवं मानसिक विकास हेतु यह विद्यालय निरंतर अग्रसर रहा है।

विद्यालय प्रशासन ने आगामी सत्र तक बैडमिंटन कोर्ट के निर्माण की बात भी कही। समाज में शिक्षा एवं संस्कारों से वंचित बालक बालिकाओं के सर्वांगीण विकास का लक्ष्य निर्धारित करते हुए कच्ची बस्तियों में इस विद्यालय द्वारा 8 संस्कार केंद्र भी संचालित किए जा रहे हैं।