प्रसिद्ध कन्नड अभिनेता मोहन जुनेजा का 54 साल की उम्र में निधन

बेंगलूरू। प्रसिद्ध कन्नड़ अभिनेता मोहन जुनेजा का शनिवार को 54 वर्ष की आयु में निधन हो गया। जुनेजा ने कन्नड़, मलयालम, तमिल और तेलुगु में 100 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। वह लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जुनेजा का बेंगलूरु के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। वह आखिरी बार कन्नड़ भाषा की मेगा ब्लॉकबस्टर फिल्म केजीएफ: चैप्टर 2 में नजर आए थे। इस फिल्म में उन्होंने मुखबिर नागराजू की भूमिका निभाई थी।

वह हास्य कलाकार और खलनायक दोनों तरह की भूमिकाओं को निभाने के लिए प्रसिद्ध थे। उनकी कुछ सबसे यादगार फ़िल्म चेलाटा थीं, जिसने उन्हें घर-घर प्रसिद्धि दिलाई। उन्होंने विटारा सहित कई टेलीविजन शो अभिनय किया था। उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए निर्देशक प्रशांत नील ने इंस्टाग्राम स्टोरीज पर मोहन की एक तस्वीर साझा की और लिखा, रेस्ट इन पीस सर (हाथ जोड़कर इमोजी)।

वहीं केजीएफ प्रोडक्शन हाउस ने जुनेजा की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया और कहा कि वह सैंडलवुड के सबसे लोकप्रिय अभिनेताओं में से एक थे।

केजीएफ ने कहा कि अभिनेता मोहन जुनेजा के परिवार, दोस्तों और शुभचिंतकों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना। वह कन्नड़ फिल्मों और हमारे केजीएफ परिवार में सबसे प्रसिद्ध चेहरों में से एक थे। केजीएफ चैप्टर 2 वर्तमान में एक ऐतिहासिक ब्लॉकबस्टर फिल्म बन गई है और इसने 1,000 करोड़ रुपए के बेंचमार्क को पार कर लिया है।

फिल्म के हिंदी संस्करण ने अकेले 400 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई की है। इसके साथ ही यह बाहुबली 2: द कन्क्लूजन के बाद दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली हिंदी फिल्म बन गई है।