रिटेल मोबाइल विक्रेताओं ने ओप्पो कंपनी के खिलाफ की भूख हड़ताल

जयपुर। चीनी ओप्पो मोबाईल कंपनी के केन्द्र सरकार के नियमों की अवेहलना कर खुदरा विक्रेताओं को नुकसान पहुंचाने को लेकर कंपनी के खिलाफ देशव्यापी हड़ताल के तहत राजस्थान में भी मोबाइल खुदरा विक्रेताओं ने बुधवार को एक दिवसीय भूख हड़ताल की।

इस अवसर पर ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स एसोसिएशन के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष सुनील गुप्ता ने कहा कि देश भर के खुदरा विक्रेता ओप्पो के वितरकों और कंपनी कार्यालयों के सामने एक दिवसीय भूख हडताल की।

उन्होंने कहा कि भारत में लॉन्चिंग से अब तक ओप्पो की सफलता में पारम्परिक रिटेलर्स की अहम भूमिका रही है। ओप्पो मोबाइल को ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए जरूरी प्रमोशन किया। उनके प्रतिनिधियों को खुदरा विक्रेताओं द्वारा उनके काउंटरों पर जगह दी गई। उन्होंने बड़े डिस्प्ले के साथ ओप्पो को प्राथमिकता दी।

उस समय, कंपनी ने खुदरा विक्रेताओं को आश्वासन दिया था कि हमारी हमेशा प्राथमिकता रिटेलर्स को होगी। अब जबकि यह एक ब्रांड बन चुका है, ओप्पो ने अपनी नीतियों में बदलाव कर रिटेलर्स को धोखा दिया है।

के 10 सीरीज के स्मार्टफोन कंपनी द्वारा केवल ऑनलाइन बिक्री के लिए उपलब्ध किया हैं। इससे उपभोक्ताओं को भारी नुकसान भी होगा। भारत में उपभोक्ता विश्वसनीय सेवाएं चाहते हैं जो केवल खुदरा विक्रेता ही दे सकते हैं।

उन्होंने कहा कि ओप्पो जैसी चीनी कंपनी नए स्मार्टफोन को केवल ऑनलाइन उपलब्ध कराने की नीति अपना रही है। विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों को सामान सौंपकर भारतीय खुदरा विक्रेताओं को धोखा देने की साजिश को विफल करने के लिए खुदरा विक्रेताओं ने कदम बढ़ाया है। भूख हड़ताल के दौरान मांग की गई कि कम से कम 80 प्रतिशत नए के सीरीज स्मार्टफोन मेनलाइन खुदरा विक्रेताओं को उपलब्ध कराए जाएं।