लखनऊ : सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर अरेस्ट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ने का एलान करने वाले सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।

हजरतगंज पुलिस ने एसआईटी रिपोर्ट के आधार पर दर्ज एफआईआर के बाद पूर्व आईपीएस अधिकारी को गिरफ्तार किया। रिपोर्ट में दुष्कर्म पीड़िता को आत्महत्या के उकसाने का आरोप है।

गोमतीनगर स्थित आवास से ठाकुर को गिरफ्तार करने के दौरान कुछ देर तक ड्रामा चला। पूर्व अधिकारी पुलिस के चंगुल से निकलने का प्रयास करते हुए कह रहे थे कि उन्हें एफआईआर की कापी और गिरफ्तारी वारंट दिखाए जाने चाहिए। पुलिसकर्मियों को पूर्व आईपीएस को पुलिस जीप में डालने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

हजरतगंज कोतवाली में वरिष्ठ पुलिस उपनिरीक्षक दयाशंकर द्विवेदी ने बसपा सांसद अतुल राय और पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी, 167, 195ए, 218, 396, 594 और 506 के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। ठाकुर पर बलात्कार पीड़िता को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। उन्हें हजरतगंज थाने में रखा गया है।