आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने की तिरंगे की व्याख्या

गोरखपुर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने राष्ट्रध्वज तिरंगा की व्याख्या करते हुए इसे राष्ट्र के विकास, समृद्धि और पवित्रता का प्रतीक बताया।

भागवत ने सरस्वती शिशु मंदिर माध्यमिक विद्यालय सुभाषनगर में ध्वजारोहण करने के बाद कहा कि तिरंगा में केसरिया रंग ज्ञान का प्रतीक है और तेज, विज्ञान, सकारात्मक चिंतन वाले राष्ट्र की पहचान कराता है।

संघ प्रमुख ने सफेद रंग की चर्चा करते हुए कहा कि यह शृद्धा और शांति का प्रतीक है। रावण महाज्ञानी होते हुए भी उसका मन मैला था। धनवान होते ही में मद चढ जाता है। उन्होंने नानाजी देशमुख का स्मरण करते हुए कहा कि वे अपने लिए कभी नहीं जिए। सदैव उनका जीवन समाज के दबे, कुचले, वंचित के लिए समर्पित रहा। ऐसे ही देश चलता है और विश्व में उसकी अलग पहचान होती है।

भागवत ने तिरंगे के हरे रंग की चर्चा करते हुए कहा कि यह लक्ष्मी और समृद्धि का प्रतीक है। मेहनत से ही देश का वैभव बनता है। यह देश त्यागी देश है और जब आप इसे समृध्दि बनाएंगे तो यह देश विश्व की सेवा करेगा।

उन्होंने कहा कि तिरंगे के मध्य चक्र ‘धर्म चक्र’ है जो पूजा का एक अंग है यह सबको एक करता है। डा भीमराव अम्बेडकर के दर्शन की चर्चा करते हुए कहा कि उनके अनुशासन और संविधान की मूल भावना का अनुसरण करते हुए आगे चलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि स्वयं में परिवर्तन करना भी गणतंत्र की मूल भावना है।

इस अवसर पर पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के कानपुर, अवध, काशी व गोरक्ष प्रान्त के स्वयं सेवकों के अतिरिक्त पमुख राष्ट्रीय चिंतक और विचारक तथा पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

इसी क्रम में पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर तथा आसपास के क्षेत्रों में 71वीं गणतंत्र दिवस पर आज सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय, विद्यालयों तथा विभिन्न संस्थानों में तिरंगा फहराकर राष्ट्र की अखन्डता और अक्षुणता, बन्धुत्व और समता का संकल्प दोहराया।

पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय गोरखपुर में, मंडलायुक्त, अपर पुलिस महानिदेशक , जिला जज, किशोर न्याय बोर्ड, पुलिस लाइन, जिला कलेक्ट्रेट, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय, गोरखपुर जर्नलिस्ट प्रेस क्लब तथा एस.एस.बी. आदि स्थानों पर तिरंगा फहराकर गणतंत्र दिवस के पावन पर्व हर्षोललास के साथ मनाया गया।

गोरखपुर पुलिस लाइन में गोरखपुर के मंडलायुक्त जयंत नार्लीकर ने झंडा फहराकर परेड की सलामी ली। उन्होंने लोकतांत्रिक मूल्यों की अवधारणा, संविधान का सम्मान और सभी नागरिकों के अधिकारों के लिए पुलिस प्रशासन को संवेदनशील रहते हुए उनके अधिकारों की रक्षा करने का आहवान किया।

इस अवसर पर गोरखपुर ओर बस्ती मंडल के देवरिया, कुशीनगर, गोरखपुर ,महराजगंज, संतकबीर नगर, सिद्धार्थनगर और बस्ती जिलों में बच्चों ने प्रभातफेरी निकाली ओर विद्यालयों में खेल-कूद और विविध सांस्कृतिक आयोजन किए गए।