संत लिखमीदास मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव में वैदिक ऋचाओं से आध्यात्मिक हुआ वातावरण

sirohi mali samaj seva sansthan,
devotees put in holocaust in religious ritual during likhmidas temple function in sirohi

सबगुरु न्यूज-सिरोही। माली समाज सेवा संस्थान के तत्वावधान में जेल रोड स्थित समाज भवन परिसर में नवनिर्मित समाज के आराध्य संत लिखमीदास महाराज मंदिर, गणपति मंदिर व आराध्यदेवी मातर माता मंदिरप्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव कोलेकर मंगलवार को विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान व अन्य कार्यक्रम हुए।

माली समाज सेवा संस्थान अध्यक्ष प्रतापराम राठौड़ के अनुसार महोत्सव के दूसरे दिन नवनिर्मित मंदिर के समक्ष स्थापित यज्ञशाला में प्रात स्थापित देवताओं का पूजन, महाविष्णुयज्ञ, कुटिर होम, प्रसाद स्नपनम, प्रासाद वास्तुहोम, शाम निराजनम आदिविधि कार्य करवाए गए। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच लाभार्थियों की ओर से आहुतियां अर्पित की गई।

वेदपाठी पंडित दिलीपव्यास के सान्निध्य में काशी व अन्य स्थानों वे आए विद्वान पंडितों की ओर से वैदिक मंत्रोच्चारण से पूरा पांडाल व संस्थान परिसर गंूजता रहा।यज्ञशाला में हवन कुंडसे आहुतियों के चलते उठती महक व वैदिक मंत्रों की गंूज से वातावरण आध्यात्मिक बना रहा।
दिन में सोजत के चेतनगिरी महाराज की ओर से नैनीबाई रो मायरा कथा का वाचन किया गया। कथा सुनने भारी तादाद में श्रद्धालु शरीक हुए।रात्रि में दिनेश माली एण्ड पार्टी सिरोही की ओरसेभजनों की प्रस्तुति दी गई।

devotees listening naini bai ro mayro during likhmidas temple function in sirohi

-‘फेरूं आपरी माला लिखमीदास महाराज—’ पर झूमेश्रोता
सोमवार देर रात तक चले कार्यक्रम में रामेश्वर एण्ड पार्टी सेवाड़ी ने भजनों की ऐसी सुर सरिता बहाई कि श्रोता देर रात तक गौते लगाते रहे। उन्होंने गुरु की ओर लिखित नीवण पद—के साथ कार्यक्रम का आगाज किया।

इसके बाद आदु आदु पंथ निवण पद—, फेंरू आपरी माला लिखमाजी महाराज—, रूडोनेरूपालो रे माड़ीथारोदेवरो—, सुताहोतोजागोनींदसंू मातर माता आया रे—, सवा लाख री चुंदड़ी मातर मातानेसोहे— समेत एक से बढकर एक भजनों की प्रस्तुतिदेकर श्रोताओं कोभावविभोर कर झूमने पर मजबूर कर दिया।

इसदौरान गायिका पूजा चैहान ने मातर माता कठे सुता सुखभर नींद के साथ कई भजन प्रस्तुत कर ऐसा समां बांधा कि श्रोता देर रात तक पांडाल में डटेरहे।देव बाड़मेर ने भवाई नृत्य किया एवं जादूगर मंगल की प्रस्तुतियों ने रोमांचित कर दिया।
-आजहोंगे यह कार्यक्रम
बुधवार को प्रातः स्थापित देवता पूजन, महाविष्णुयज्ञ, तत्वन्यास होम, मूर्ति पति लोकपाल होम, प्रासाद, दिक्षुहोम आदिविधि कार्य होंगे।सवेरे नौ से दोपहर एक बजे तक चढ़ावों के लाभार्थियों का बहुमान अभिनंदन होगा।तीन से सातबजे तक नानीबाई का मायरा कथा जारी रहेगी।रात्रि में श्याम पालीवाल एण्ड पार्टी बालोतरा व एडवोकेट प्रकाश माली गोयली-सिरोही की ओर से भजनों की प्रस्तुति दी जाएगी।