आरएमपी डॉक्टर का धर्मस्थल में न्यूड वीडियो बनाकर ब्लैकमेल

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में सीमावर्ती नई मंडी घड़साना थाना क्षेत्र में एक आरएमपी डॉक्टर को धर्मस्थल में बुलाकर उसकी नग्न तस्वीरें और वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किए जाने का मामला सामने आया है।

नई मंडी घड़साना थाना प्रभारी कुलदीप वालिया ने आज बताया कि बीकानेर जिले में खाजूवाला थाना क्षेत्र के चक 8-बीडी निवासी नत्थासिंह जटसिख ने सोमवार देर शाम रिपोर्ट दर्ज कराई कि चक 1-एसटीआर में एक पीरखाना के सेवादार गुरदीपसिंह और वहां रहने वाली जस्सीकौर तथा उसकी मां पर पीरखाना में उसे बंधक बनाकर नग्न अवस्था में फोटो खींचने, वीडियो बनाने और इसके आधार पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा देने की धमकी देकर लूटपाट करने का आरोप लगाया।

उन्होंने बताया कि नत्था सिंह अपनी किसी घरेलू परेशानी को लेकर इस पीरखाना में आता जाता था। इसी पीरखाना में गुरदीपसिंह के पास एक महिला और उसकी पुत्री का भी आना जाना है।

गत नौ अगस्त को पीरखाना में इन तीनों लोगों ने उसे एक कमरे में बंद कर लिया और जबरन नग्न अवस्था में उसकी आपत्तिजनक फोटो खींच लिए तथा वीडियो फिल्म बना ली। तब उसके पास 16 हजार पांच सौ रुपए और सोने की चैन थी,जो इन तीनों ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा देने की धमकी देकर छीन लिए।

यही नहीं बाद में एटीएम पर ले जाकर उससे ग्यारह हजार रुपए और ले लिए। इसके बाद अब उसे एक लाख रुपए और देने के लिए ब्लैकमेल किया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि इस मामले में विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है।

उधर, नत्था सिंह के भाई सुमनदीप उर्फ राज के पास से करीब एक हजार नशीली गोलियां बरामद की गई है। वालिया ने बताया कि नत्थासिंह के साथ उसका भाई भी मुकदमा दर्ज कराने के लिए घड़साना आया था। रात को यह दोनों वापस जा रहे थे, तभी सूचना मिलने पर रावला रोड पर रोक कर तलाशी लेने पर सुमनदीप के पास 980 नशीली गोलियां मिली।

सुमन सिंह के खिलाफ खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। पूछताछ में सुमनदीप का कहना है कि यह गोलियां उसे भाई ने ही लेकर सौंपी थीं। इस मामले की जांच की जा रही है।