सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक की रींगस शाखा में करोड़ों का घोटाला

सीकर। राजस्थान के सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक की रींगस शाखा में बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत से खातेदारों के फर्जी खाते खोलकर करोड़ों रूपए का घोटाला करने का मामला सामने आया है।

बैंक के प्रबंध निदेशक मनोहर लाल शर्मा ने पुलिस में बैंक के चार कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। इनमें बैंक के सेवानिवृत प्रबंधक प्रकाश जैन, वर्तमान प्रबंधक यशवंत पारीक, कैशियर सोहन वीरानियां तथा विकास मीणा शामिल है।

बैंक की ओर से दर्ज कराए गए मामले में बताया गया है कि इन कर्मचारियों ने वर्ष 2014 से लेकर जून 2017 तक बैंक के खातेदारों द्वारा जमा कराई गई सावधि जमाओं के फर्जी खाते खोलकर करोडों रूपए का घोटाला किया है। प्रांरभिक रिपोर्ट के अनुसार इन अधिकारियों द्वारा अब तक आठ करोड़ रूपए का घोटाला किए जाने की जानकारी मिली है।

बैंक में घोटाले का खुलासा शर्मा की जांच के बाद हुआ। बताया जाता है कि खातेदारों की ओर से बैंक प्रबंधन को इस संबंध में शिकायत की गई थी जिसके बाद कराई गई जांच में यह खुलासा हुआ। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।