कोरोना काल में आरएसएस पूरी ताकत के साथ सेवाकार्यों में जुटा

अजमेर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कोरोना महामारी काल में अपनी तरफ से सेवा कार्यों के तहत देश भर में आइसोलेशन व कोविड-19 सेंटर में 17300 बेड की व्यवस्था मुहैया कराई है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अजमेर महानगर संघचालक सुनील दत्त जैन ने बताया कि वर्तमान संकट गंभीर है, लेकिन समाज, सरकार तथा प्रशासन कोरोना काल की विषम परिस्थितियों में तत्परता के साथ कार्य कर रहे हैं। सकारात्मकता और सामूहिक शक्ति के बल पर ही हम इस गंभीर संकट से जीत पाएंगे।

संघ के स्वयंसेवक, सेवा भारती के कार्यकर्ता सहित अन्य संगठन व संस्थानों के माध्यम से प्रभावित परिवारों में जरूरतमंदों को सहायता उपलब्ध करवाने के कार्य में जुटे हैं। इस संकट काल में स्वयंसेवकों द्वारा स्वस्थ होकर क्षेत्र की आवश्यकता के अनुसार प्राथमिकता से कई प्रकार के सेवा कार्य शुरू किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर के द्वारा जारी सेवा कार्यों में आइसोलेशन केंद्र व संक्रमित रोगियों हेतु कोरोना केयर सेंटर, सरकारी कोविड-19 सेंटर व अस्पतालों में सहायता उपलब्ध करवाना, संक्रमितों की सहायता हेतु हेल्पलाइन नंबर, ऑनलाइन चिकित्सकीय सलाह, रक्तदान, प्लाज्मा दान, अंतिम संस्कार के कार्य, आयुर्वेदिक काढ़ा व दवा वितरण, काउंसलिंग, ऑक्सीजन आपूर्ति, एंबुलेंस सेवा, भोजन, राशन, टीकाकरण अभियान, शव वाहन जैसे आवश्यक कार्य स्वयंसेवकों ने पूरे देश भर में प्रारंभ किए हैं।

स्वयंसेवकों द्वारा सहायता के लिए देशभर के लगभग 3800 स्थानों पर हेल्पलाइन सेंटर चलाए जा रहे हैं। इसी प्रकार वैक्सीनेशन शिविर सहयोग व जागरूकता अभियान में 7500 से अधिक स्थानों पर 22000 से अधिक कार्यकर्ता लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि कई लोगों का वैक्सीनेशन स्वयंसेवकों द्वारा करवाया गया है।

देशभर में 287 स्थानों पर आइसोलेशन केंद्र संचालित किए जा रहे हैं जिसमें लगभग 9800 से अधिक बिस्तर की व्यवस्था है। इसके साथ ही 118 शहरों में कोविड-19 चलाए जा रहे हैं जिसमें 7476 बिस्तर की व्यवस्था है। इनमें से 2285 बिस्तर ऑक्सीजन सुविधा युक्त हैं। इन केंद्रों के संचालन में 5100 से अधिक कार्यकर्ता कार्य कर रहे हैं।

इसके अलावा सरकारी कोविड-19 में भी स्वयंसेवक व्यवस्थाओं में सहयोग कर रहे हैं। देश भर के 762 शहरों में संचालित 819 सरकारी कोविड-19 में 1000 से अधिक कार्यकर्ता सहयोग कर रहे हैं। स्वयंसेवकों ने देश भर में 1256 स्थानों पर रक्तदान शिविर का आयोजन कर अब तक 44000 यूनिट रक्त एकत्र किया है।

देश भर में 14 स्थानों पर संचालित चिकित्सकीय हेल्पलाइन के माध्यम से डेढ़ लाख से अधिक लोग लाभान्वित हुए हैं। इन केंद्रों में 4445 चिकित्सक सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। देशभर में संक्रमित परिवार और व्यक्तियों को 3315 स्थानों पर 537436 भोजन पैकेट उपलब्ध करवाए गए हैं। इसी तरह 426 स्थानों पर प्लाज्मा डोनेट किया गया है। आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण 5921 स्थानों पर किया गया जिसमें 451088 लोग लाभान्वित हुए।

इसी तरह कोविड-19 2 की काउंसलिंग हेतु 1242 स्थान निश्चित किए गए जिसमें 75751 लोगों को परामर्श दिया गया। अंतिम संस्कार के लिए 816 स्थानों का चयन किया गया, जहां स्वयंसेवकों ने अपनी सेवाएं दी। देश भर में 303 शव वाहन सेवा में स्वयंसेवकों ने अपनी भागीदारी निभाते हुए देश की इस विपत्ति के समय सेवा कार्य कर मानवता के लिए कार्य किया है।