उपमहापौर संपत सांखला के इस्तीफे की मांग, साधारण सभा में बरपा हंगामा

अजमेर। अजमेर नगर निगम की मंगलवार को आहूत साधारण सभा में उपमहापौर संपत सांखला की अंकतालिका को लेकर उपजे विवाद के चलते खासा हंगामा हुआ। कांग्रेस पार्षदों ने सांखला से नैतिक आधार पर इस्तीफे की मांग की करते हुए आसन को घेर लिया। करीब एक घंटे तक मचे शोर शराबे के बीच यह सुनाई नहीं पड रहा था कि कौन क्या कह रहा है।

बतादें कि महापौर धर्मेन्द्र गहलोत की अध्यक्षता में सुबह 11 बजे जैसे ही बैठक शुरू हुई वैसे ही विपक्षी दल कांग्रेस के पार्षद चन्द्रशेखर बालोठिया और सुनील केन ने उपमहापौर संपत सांखला की कक्षा दसवीं की अंकतालिका को लेकर सामने आए फर्जीवाडे का मुद्दा उठा दिया।

आसन की तरफ से महापौर गहलोत ने कहा कि यह मामला न्यायालय के विचाराधीन है इसलिए इस पर कोई ​टीका टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। बावजूद इसके बाकी कांग्रेस पार्षद भी हंगामा करने लगे और अपनी सीटों से उठकर वैल में आ गए।

हंगामा बढता देखकर बीच बचाव के लिए बीजेपी पार्षद सुरेंन्द्र सिंह शेखावत आगे आए औश्र उन्होंने कांग्रेस पार्षदों को समझाइश करने का प्रयास किया। इस बीच हो हल्ला बढता गया और कुछ भी सुनाई नहीं पडा। इसके बाद महापौर गहलोत ने कुछ मिनट के लिए साधारण सभा स्थगित करने की घोषणा की।

यह  है मामला

साल 2010 में संपत सांखला ने पार्षद चुनाव लडने के दौरान अपने नामांकन पत्र में खुद को कक्षा 10वीं पास होना दर्शाया था। हाल ही में एक पुलिस में दर्ज एक शिकायत की जांच के दौरान इस बात की पुष्टि हुई कि साल 2010 में सांखला 10 कक्षा पास नहीं थे। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। इसी मुद्दे को लेकर कांग्रेसी पार्षदों ने सांखला से उपमहापौर पद से इस्तीफे की मांग उठाई है।