केंद्र ने पेट्रोल डीजल में लगातार वृद्धि करके देश को आर्थिक संकट में डाला : पायलट

जयपुर। राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि पिछले तीन महीने से कोरोना महामारी के चलते आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रही जनता को केन्द्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि करके गहरे आर्थिक संकट में डाल दिया है।

पायलट ने आज यहां पट्रोल डीजल में हो रही वृद्धि के खिलाफ दिए गए धरने के दौरान सम्बोधित करते हुए कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें दशक के सबसे निचले स्तर पर होने के बावजूद भी भाजपा सरकार जनता पर अनावश्यक आर्थिक बोझ डाल रही है। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कम कीमतों का लाभ देश की जनता को मिलना चाहिए था, परन्तु केन्द्र की भाजपा सरकार पूरी तरह से मुनाफाखोरी पर उतारू हो गई है।

उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल के दामों में जो वृद्धि की गई है वह 70 वर्षों में अप्रत्याशित है। उन्होंने कहा कि जब किसी चीज की अधिक आवश्यकता होती है तो उसके दामों में वृद्धि करके केन्द्र सरकार मुनाफाखोरी का अवसर नहीं छोड़ती है।

उन्होंने कहा कि देश में पेट्रोल-डीजल के पर्याप्त भण्डारण उपलब्ध हैं, दुनियाभर में क्रूड ऑयल की कीमतों का असर देखने को मिल रहा है, वहां की सरकारों ने पेट्रोल-डीजल की गिरी कीमतों का लाभ आमजनता को देकर उसकी सहायता करने का काम किया है, परन्तु हमारे देश में सरकार द्वारा अप्रत्याशित वृद्धि करके महंगाई बढ़ाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बढ़ती कीमतों ने सबसे ज्यादा चोट गरीब एवं मध्यम वर्ग को पहुँचायी है।

पायलट ने कहा कि देश में कोरोना महामारी के कारण लोगों को आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, लोगों के रोजगार छिन रहे है, देशभर में मंदी चल रही है तब भी केन्द्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी इजाफा किया है जो आज तक किसी सरकार ने नहीं किया है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों का असर सीधे परिवार के मासिक खर्च पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि डीजल की कीमतों में बढ़त होने से माल-भाड़ा महंगा होगा और महंगाई चरम सीमा पर पहुँचेगी।

पायलट ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार को कोरोना महामारी के कारण आर्थिक रूप से जूझ रही आमजनता को पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को वापस लेकर राहत देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आम आदमी धरना नही दे सकता लेकिन उसकी आवाज कांग्रेस पार्टी उठाएगी।

पायलट ने चीन के मुद्दे पर कहा कि प्रधानमंत्री जी तथा रक्षा मंत्रालय के बयानों में विरोधाभास साफ नजर आता है। उन्होंने कहा कि आज हमारी सरहदों पर अतिक्रमण हो रहा है। देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए हमारे 20 जवान शहीद हो गए हैं, उनकी शहादत व्यर्थ नही जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री जी से यह बोल रहे हैं कि विरोधी देश को जवाब देना होगा। हम आपके साथ खड़े हैं पूरा देश आपके साथ खड़ा है।

इससे पहले अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर राज्य में जिला मुख्यालयों पर प्रात: 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार की जा रही अप्रत्याशित वृद्धि के विरोध में धरने का आयोजन किया गया। धरने के पश्चात् जिले के प्रमुख कांग्रेसजनों द्वारा जिला कलक्टर या उपखण्ड अधिकारी को माननीय राष्ट्रपति महोदय के नाम ज्ञापन प्रस्तुत किए गए।