मुख्यमंत्री गहलोत के गढ जोधपुर में सचिन पायलट का जलवा

जोधपुर। राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सोमवार को जोधपुर-बाड़मेर दौरे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गढ़ में राजनीतिक ताकत दिखााई। दिल्ली से नियमित उड़ान में जोधपुर पहुंचे पायलट का स्वागत करने के लिए बड़ी संख्या में लोग जुटे।

सोनिया गांधी जिंदाबाद, राहुल गांधी जिंदाबाद और ‘हमारा नेता कैसा हो…’ जैसे नारे भी लगे। स्वागत से पायलट और उनके समर्थक उत्साहित भी नजर आए, लेकिन कांग्रेस के स्थानीय संगठन का कोई बड़ा नेता नहीं दिखा। एयरपोर्ट पर केवल वे ही नेता नजर आए, जो लंबे समय से पायलट के समर्थक रहे हैं।

सचिन पायलट के एयरपोर्ट से बाहर आते ही कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। सुरक्षाकर्मियों व नेताओं ने सुरक्षा घेरा बनाकर पायलट को उनके वाहन तक पहुंचाया फिर पायलट ने गाड़ी पर खड़े होकर अभिवादन स्वीकार किया और मालाएं-गुलदस्ते ग्रहण किए। कुछ लोगों ने हाथ मिलाए।

करीब पांच मिनट तक कार्यकर्ताओं से पायलट घिरे रहे। नारेबाजी के बीच पायलट हवाई अड्डे से ही बाड़मेर जिले के बालोतरा के लिए रवाना हो गए। उन्होंने गुड़ामलानी के विधायक पद से इस्तीफा भेज चुके हेमाराम चौधरी के मूलजी की ढाणी स्थित पैतृक आवास पहुंच कर चौधरी के भाई के निधन पर संवेदना व्यक्त की।

जोधपुर एयरपोर्ट पर पायलट की अगवानी करने पहुंचने वालों में प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र चौधरी व कांग्रेस नेता करणसिंह उचियारड़ा के अलावा कांग्रेस विधायक राकेश पारीक, रामनिवास गवाडिय़ा व मुकेश भाकर भी पहुंचे। इनके समर्थक भी बड़ी संख्या में साथ आए थे।

पाली के वरिष्ठ कांग्रेस नेता भीमराज भाटी और सिरोही के रतन देवासी, पीसीसी सचिव महेंद्र खेड़ी, एनएसयूआई के प्रदेश सचिव अभिषेक मेहता व जोधपुर नगर निगम के पूर्व पार्षद राजेश मेहता ने भी पायलट की अगवानी की। भाटी व देवासी पायलट कैम्प में संभवतः पहली बार सार्वजनिक रूप से नजर आए हैं।