सहरसा सदर अस्पताल में स्वीपर ने लगाया टांका, महिला की मौत

saharsa : woman operated under torchlight dies
saharsa : woman operated under torchlight dies

सहरसा/पटना। बिहार में सहरसा जिला सदर अस्पताल में करीब एक सप्ताह पूर्व पुलिस वाहन से कुचलकर घायल एक महिला को टाॅर्च की रौशनी में डॉक्टर की बजाए स्वीपर के टांका लगाने का मामला प्रकाश में आने के बाद आरोपी स्वीपर को जहां निलंबित कर दिया गया है, वहीं घायल महिला की ईलाज के क्रम में मौत हो गई।

पुलिस सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि 16 मार्च को सड़क हादसे में कौशल कुमार की मौत हो गई थी जबकि उनकी पत्नी रूबी कुमारी गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। घायल महिला को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां स्वीपर ने उसे टांका लगाया था। वीडियो वायरल होने के बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ था।

सूत्रों ने बताया कि हालांकि महिला की हालत बिगड़ने के बाद उसे सहरसा के एक निजी नर्सिंग होम भर्ती कराया गया था। इसके बावजूद महिला की हालत में सुधार नहीं होते देख उसे पटना रेफर किया गया। पटना में इलाज के क्रम में महिला की बुधवार को मौत हो गई थी।

इस बीच सहरसा के पुलिस अधीक्षक अश्विनी कुमार ने आरोपी चालक रविशंकर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। वहीं, सिविल सर्जन अशोक कुमार सिंह ने कहा कि चिकित्सक की उपस्थिति में घायल महिला का ऑपरेशन किया गया था।

उन्होंने कहा कि आरोपी स्वीपर शंभू मलिक को जहां निलंबित कर दिया गया है वहीं ऑपरेशन के दौरान मौजूद डॉ. रतन कुमार और अस्पताल के उपाधीक्षक के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के लिए प्रपत्र ‘क’ (आरोप से संबंधित) का गठन कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि 16 मार्च को जिले के सौर बाजार थाना क्षेत्र के कचरा गांव निवासी कौशल कुमार शरण (40) अपनी पत्नी रूबी कुमारी के साथ सुबह टहलने के लिए निकले थे तभी वनगांव थाना क्षेत्र में रहुआ गांव के निकट पुलिस वाहन ने दोनों को कुचल दिया। इस दुर्घटना में कौशल कुमार शरण की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई थी।