पाकिस्तान के सिन्ध से आए संतों ने किए जतोई दरबार के दर्शन

Saints from Sindh of Pakistan visits Jatoi Darbar temple in ajmer

अजमेर। पाकिस्तान के सिन्ध प्रांत से आए संत साधराम साहिब, उनके पुत्र व अनुयाईयों ने नगीना बाग स्थित जतोई दरबार के दर्शन किए। दरबार के भाई फतनदास ने सांई दादूराम साहिब की खट के समक्ष पूजा अर्चना कराकर उनका स्वागत सत्कार किया।

इस अवसर पर सिन्ध से आए संत सतराम साहिब धाम रेहरडकी साहिब स्थान के सांई साधराम ने कहा कि सांसारिक जीवन में सच्चे संतों का स्मरण व ध्यान करने से मन को शांति मिलती है साथ ही सकारात्मक सोच उत्पन्न होती है। संतों के सान्निध्य में रहने से अपना व अपने परिवार का कल्याण किया जा सकता है।

दरबार पहुंचने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। सिन्ध व हिन्द की तहजीब के मिलन के इस समागम पर कलाकारों ने दरबार में शिव प्रतिमा व माता के दरबार में हाजिरी दी तथा गीत प्रस्तुत किए। मंच संचालन सिन्धी समाज महासमिति के अध्यक्ष कवंलप्रकाश किशनानी ने किया तथा भारतीय सिन्धु सभा के प्रदेश महामंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने आभार जताया।

अजमेर सिन्धी सेन्ट्रलय पंचायत नरेन शाहणी भगत ने आगंतुत अतिथियों के लिए स्वागत वचन प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में दरबार के किशनचंद, राजू दौलताणी, प्रकाश जेठरा, तुलसी सोनी, ओम हीरांचदाणी, राजेश कोटवाणी, नंदकिशोर, तुलसी रामचंदाणी, आनंद हीरानंदाणी, योगेश कोटवाणी, लेखराज मूलाणी, राहुल ठावराणी, हरशुल, जयकिशन रूपाणी, रोचीराम वर्धवाणी, कुमार सखराणी, दीपक टहलरामाणी समेत उपस्थित समस्त लोगों ने संतों व अतिथियों का स्वागत किया।