चुनावी मौसम में अखिलेश यादव ने की वादों की बरसात

लखनऊ। सत्तारूढ योगी सरकार पर उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य बनाने की तोहमत मढ़ते हुये समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को वादों की झड़ी लगा दी।

यादव ने बुधवार को कहा कि भाजपा की संकुचित मानसिकता से समाज के विभिन्न वर्गों में तनाव व्याप्त है। राज्य में भाजपा ने विकास रोक कर धोखा दिया है। वह लोकतंत्र के लिए खतरा बन गई है। सपा के कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर भाजपा की साजिशों का पर्दाफाश करेंगे। उनकी वादाखिलाफी को सबके सामने लाएंगे।

उन्होने कहा कि भाजपा के साढ़े चार वर्षों में प्रदेश की जनता को पग-पग पर परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। भाजपा ने इस राज्य को गंदगी के ढेर में बदल दिया है। कोरोना महामारी के बाद अब चारों ओर डेंगू तथा वायरल बुखार से लोग त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। फिरोजाबाद में 90 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। फर्रुखाबाद में 50 की मौत हुई है।

कानपुर में 50 गम्भीर बीमार हैं जिनमें 7 की मौत हुई है। आगरा, बरेली और बागपत में प्लेटलेट्स की कमी का संकट हैं, झांसी में बेड की मारामारी, पुरुष वार्ड में भर्ती हुईं महिलाएं। कासगंज, मथुरा में 14 मौतें हुईं हैं। रायबरेली, उन्नाव में भी स्थिति बद्त्तर है।

डेंगू पीड़ितों को उचित इलाज नहीं मिल रहा है। मुख्यमंत्री बड़ी-बड़ी बाते करते हैं, दावे करते हैं पर हकीकत में भ्रष्ट प्रशासनिक मशीनरी अब उनकी बातों पर ध्यान नहीं देती हैं। मुख्यमंत्री की टीम इलेवन और टीम 9 का इन दिनों कहीं अता-पता नहीं है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने चंद पूंजीपतियों को छोड़कर समाज में सभी के साथ अन्याय किया है। समाजवादी सरकार बनी तो किसानों को पहले जैसी सुविधाएं मिलेंगी। बुनकरों को बिजली फिक्स फ्लैट रेट पर मिलेगी। गरीब महिलाओं को समाजवादी पेंशन जारी की जाएगी। शिक्षक अभ्यर्थियों और शिक्षामित्रों को न्याय मिलेगा। नौजवानों के रोजगार का इंतजाम होगा। व्यापारियों की समस्याओं का समाधान होगा।