सपा किसी दल से समझौता नही करेंगी, अकेले लड़ेगी चुनाव: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उनकी पार्टी किसी दल के साथ समझौता नही करेंगी और अकेले चुनाव लड़ेगी।

यादव ने साेमवार को यहां जारी बयान में कहा कि सपा के बड़े नेताओं की राय है कि पार्टी अब किसी भी दल के साथ समझौता नहीं करेगी। अकेले चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राजनीतिक साजिश और षड्यंत्र करती रहती है अफवाहें फैलाती रहती है। इससे जनता को सावधान रहना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि यूपी ने देश को प्रधानमंत्री दिया। भाजपा की सरकार ने तीन एमओयू किए हैं। सरकार बताएगी किस उद्योगपति ने निवेश किया। उद्योगपति को किस बैंक ने कितना लोन दिया है। मुख्यमंत्री जितने निवेश की बात कर रहे हैं यदि उतना हुआ होता तो अब तक उत्तर प्रदेश में करोड़ों लोगों को नौकरियां मिल चुकी होती। आज हालत यह है कि पुराने उद्योग धंधे डूब रहे हैं। तीन साल की भाजपा सरकार में एक भी नया कारखाना नहीं लगा।

यादव ने कहा कि अब सरकार श्रमिकों को भ्रमित करने के लिए नया आयोग की बात कर रही हैं। जबकि उत्तर प्रदेश के पास इसके लिए पुराना विभाग है। स्किल डेवलपमेंट की पुरानी योजना है। स्किल डेवलपमेंट में कम्पनियों को इंपैनल किया जाता था। सरकार को बताना चाहिए कि इनके कार्यकाल में कितनी कम्पनियां इंपैनल्ड हुई। देश की राजनीति की दिशा उत्तर प्रदेश से निकलती है। उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा से बहुत नाराज हैं। भाजपा सरकार ने जनता को समाज को हर बार को धोखा दिया है।

उन्होंने कहा कि सपा का पूरा फोकस उत्तर प्रदेश पर है। हम संगठन को मजबूत करते हुए जमीन पर कार्य कर रहे हैं। हमारा कार्यकर्ता गरीबों, मजदूरों किसानों के बीच रहकर उनकी मदद कर रहा है। हमारा मुख्य लक्ष्य उत्तर प्रदेश कुशासन का पर्याय बन चुकी भाजपा सरकार को हटाना। जब देश की राजनीति का सवाल आएगा तो सपा फैसला लेगी। इस बीमारी के खिलाफ लड़ाई को लेकर सपा लगातार सरकार के सामने अपनी बात रख रही है। पार्टी के कार्यकर्ता लोगों के बीच रहकर मदद कर रहे हैं। लेकिन यह सरकार बात तो मानती नहीं। गरीबों की मदद करने पर समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज करा दिया।