समीर वानखेड़े ने सतर्कता पैनल के सामने पेश किए दस्तावेज

मुंबई। मुंबई में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने सोमवार को सतर्कता विभाग के पैनल के समक्ष दस्तावेज जमा किए।

वानखेड़े रविवार को पैनल के सामने पेश हुए थे। आज सुबह पैनल द्वारा उठाए गए एक सवाल पर उन्होंने पिछले साल ड्रग्स-ऑन-क्रूज छापेमारी से संबंधित कुछ दस्तावेज जमा किए। इस मामले में अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अन्य की गिरफ्तारी हुई थी।

पैनल वानखेड़े और उनकी टीम द्वारा जबरन वसूली के आरोपों की जांच कर रहा है जिन्होंने क्रूज पर ड्रग्स पर छापा मारा था। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि कल वानखेड़े ने उत्तरी क्षेत्र के एनसीबी के उप महानिदेशक (डीडीजी) ज्ञानेश्वर सिंह के समक्ष मुंबई में अंतरराष्ट्रीय क्रूज टर्मिनल पर अक्टूबर 2021 में हुई छापेमारी से संबंधित घटनाओं पर अपना बयान दिया और आधिकारिक दस्तावेज पेश किए।

इससे पहले भी वानखेड़े और उनकी टीम ने सतर्कता पैनल के सामने एनसीबी मुुबई के समक्ष पेश हुई और यह समझा जाता है कि नवीनतम बयान जांच कार्रवाई समाप्त करने की प्रक्रिया का हिस्सा है, जिसके बाद डीडीजी द्वारा एनसीबी महानिदेशक को एक रिपोर्ट सौंपी जाएगी।

गौरतलब है कि श्री सिंह एक भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी औऱ एनसीबी के मुख्य सतर्कता अधिकारी हैं। उन्हें क्रूज ड्रग्स मामले में एक स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सेल द्वारा हलफनामा दायर करने के बाद जांच सौंपी गई थी।

हलफनामें में प्रभाकर ने दावा किया था कि क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान को बरी करने के लिए मुंबई एनसीबी के कुछ अधिकारियों और अन्य लोगों द्वारा 25 करोड़ रुपए की वसूली का प्रयास किया गया था।