गर्लफ्रेंड थोड़ी कम पटाता तो क्या बात थी, किताबे तो सारी तेरे पास थी

गर्लफ्रेंड थोड़ी कम पटाता तो क्या बात थी, किताबे तो सारी तेरे पास थी
गर्लफ्रेंड थोड़ी कम पटाता तो क्या बात थी, किताबे तो सारी तेरे पास थी

कल जो मैंने एक बच्चे से पूछा:
पढ़ाई कैसी चल रही है?

उसका जवाब आया
अंकल,

समंदर जितना सिलेबस है;
नदी जितना पढ़ पाते हैं;
बाल्टी जितना याद होता है;
गिलास भर लिख पाते हैं;
चुल्लू भर नंबर आते हैं;
उसी में डूब कर मर जाते हैं।


टीचर छात्र से:
आयात और निर्यात का एक अच्छा सा उदाहरण बताओ.

छात्र:
सोनिया गांधी और सानिया मिर्ज़ा..

टीचर:
तुम्हारे चरण कहाँ हैं बेटा ।


छात्र (भगवान से):
हज़ारो की किस्मत तेरे हाथ है,
अगर पास करदे तो क्या बात है!

परीक्षा के बाद …

भगवान:
गर्लफ्रेंड थोड़ी कम पटाता तो क्या बात थी,
किताबे तो सारी तेरे पास थी 😀