भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फूले को याद किया

कोटा। भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फूले की 125वीं पुण्य तिथि पर अखिल भारतीय कोली समाज राजस्थान कोटा महिला विंग की ओर से पुष्पांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस मौके पर संस्था की ओर से सावित्री बाई फूले की जीवन गाथा, नारी जाग्रति के लिए उनके द्वारा किए गए कार्यो के दौरान आए संघर्षपूर्ण यादों को परस्पर साझा किया। सभी ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

संस्था की प्रदेश महामंत्री (महिला विंग) निर्मला दहिया के नेतृत्व में सभा का आयोजन किया गया। कोटा जिला अध्यक्ष निर्मला वर्मा ने बताया कि सावित्री बाई फूले भारत की प्रथम महिला शिक्षिका एवं समाज सेविका थीं।

उन्होंने बालिका शिक्षा के लिए बहुत संघर्ष कर उन्हें शिक्षा का अधिकार दिलाया। समाज में फैली अनेक कुरुतियों जैसे विधवा विवाह, बाल विवाह आदि को समाप्त करने के लिए बहुत जीवन के अंतिम क्षण तक संघर्ष करके सभी महिलाओं को पढ़ने और सम्मान से जीना का अधिकार दिलाया। उनका यह बलिदान नमन करने योग्य है।

कोटा जिला महामंत्री महिला विंग शीला वर्मा तथा प्रदेश उपाध्यक्ष महिला विंग सुनैना वर्मा ने भी उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों में संस्था के संरक्षक जीपी वर्मा, कोटा जिला अध्यक्ष मुकुट जगरिया, गणेश वर्मा, मांगीलाल महावार, भीम राज अटारिया तथा कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहे।