शैलजा का अचानक जयपुर आना, गहलोत से मिलना चर्चा का विषय बना

जयपुर। हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष शैलजा की आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अचानक मुलाकात चर्चा का विषय बन गई।

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन के तीन दिन के फीडबैक के बाद शैलजा की गहलोत से मुलाकात के पीछे यह माना जा रहा है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का कोई विशेष संदेश लेकर आई है।

गहलोत से मुलाकात के बाद शैलजा दिल्ली चली गई। यह माना जा रहा है कि गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल नहीं करना चाहते जबकि आलाकमान कुछ मंत्रियों को हटाने के पक्ष में है।

कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन भी यह संकेत दे चुके हैं कि कुछ मंत्रियों ने संगठन में काम करने की ईच्छा जताई है। पूर्व उप मुख्यमंत्री संचिन पायलट के पिछले वर्ष बगावत पर उतरने तथा बाद में हुए समझौते के मुताबिक आलाकमान पायलट गुट के विधायकों को मंत्रिमंडल में लेने के साथ कुछ मंत्रियों को हटाने के फार्मूले पर काम कर रहा है।

पायलट समर्थक कुछ विधायक गहलोत मंत्रिमंडल के सदस्यों को कठघरे में खडा कर चुके है तथा उन्हें मंत्री पद से हटाने के लिए दबाव बना रहे है। गहलोत ने मंत्रिमंडल के बारे में अभी कोई बयान नहीं दिया है। आलाकमान मंत्रिमंडल विस्तार के बारे में विस्तार एवं फेरबदल के पक्ष में दबाव बनाए हुए है।