पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार अरशद शरीफ की गोली मारकर हत्या

नैरोबी/इस्लामाबाद। पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर अरशद शरीफ की केन्याई पुलिस ने रविवार रात देश के मगदी शहर से नैरोबी की यात्रा के दौरान ‘गलत पहचान’ मामले में गोली मारकर हत्या कर दी।

द स्टार ने पुलिस अधिकारियों के हवाले से सोमवार को यह जानकारी दी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमारे पास गोलीबारी की एक सूचना थी जो एक पत्रकार से जुड़ी गलत पहचान का मामला निकला। हम बाद में अधिक जानकारी जारी करेंगे।

पुलिस ने अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में कहा है कि जब शरीफ और उनके ड्राइवर ने कथित तौर पर एक चौकी का उल्लंघन किया तो शरीफ को सिर में गोली मार दी गई।

द स्टार ने बताया कि शरीफ की पहचान के लिए रुकने पर स्वागत किया गया लेकिन उनका ड्राइवर कथित तौर पर चेकपॉइंट से आगे निकल गया। इसके बाद पुलिस ने थोड़ी दूर तक पीछा किया और गोली मार दी जिसमें पत्रकार की मौत हो गई।

केन्याई मीडिया ने कहा कि शरीफ का ड्राइवर घायल हो गया और उसे अस्पताल ले जाया गया। इसमें कहा गया है कि ड्राइवर ने कानून प्रवर्तन अधिकारियों को बताया कि वह और शरीफ डेवलपर हैं तथा मगदी में एक साइट देखने जा रहे थे।

पुलिस मुख्यालय ने कहा कि केन्या की इंडिपेंडेंट पुलिसिंग ओवरसाइट अथॉरिटी मामले की जांच करेगी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि विस्तृत बयान बाद में जारी किया जाएगा।

पाकिस्तान के सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब ने पुष्टि की है कि मारे गए वरिष्ठ पत्रकार अरशद शरीफ के शव की पहचान केन्या की राजधानी नैरोबी में हुई है। उन्होंने कहाकि पाकिस्तान के उच्चायुक्त, केन्याई पुलिस अधिकारी और डॉक्टर फिलहाल मुर्दाघर में हैं, जहां शरीफ का शव रखा गया है।

इस बीच, विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने पत्रकार की मौत पर दुख जताया और कहा कि पाकिस्तानी सरकार इस संबंध में केन्याई अधिकारियों के संपर्क में है। उन्होंने पत्रकार अरशद शरीफ की हत्या की अविश्वसनीय घटना बेहद चौंकाने वाली और पाकिस्तान के पत्रकार समुदाय के लिए एक अपूरणीय क्षति करार दिया है।

उन्होंने कहा कि मैं पत्रकार अरशद शरीफ के परिवार, पत्रकार समुदाय और उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। शरीफ के निधन की खबर के बाद देश भर में शोक की लहर दौड़ गई। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने शरीफ की मौत को ‘पत्रकारिता और पाकिस्तान के लिए एक बड़ी क्षति’ करार दिया। उन्होंने ट्वीट किया कि उनकी आत्मा को शांति मिले और उनके परिवार, जिसमें उनके दोस्त भी शामिल हैं, को इस नुकसान को सहने की शक्ति मिले।

प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पत्रकार अरशद शरीफ की मौत की चौंकाने वाली खबर पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे। शोक संतप्त परिवार के लिए मेरी गहरी संवेदना और प्रार्थना है।

सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने कहा कि वे वरिष्ठ पत्रकार अरशद शरीफ की अप्रत्याशित मौत से बहुत दुखी हैं। सेना ने कहा किअल्लाह उन्हें जन्नत से ऊंचा दर्जा दे। पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी पत्रकार की मौत की परिस्थितियों की पारदर्शी जांच की मांग की।