सेंसेक्स 334 अंक लुढ़ककर हुआ बंद

Sensex closed down by dropping 334 points
Sensex closed down by dropping 334 points

मुंबई। रिजर्व बैंक के विकास अनुमान घटाने के बाद देश में आर्थिक सुस्ती गहराने की आशंका से चिंतित निवेशकों ने शुक्रवार को शेयर बाजार में जमकर बिकवाली की जिससे बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 334.44 अंक यानी 0.82 प्रतिशत लुढ़ककर दो सप्ताह के निचले स्तर 40,445.15 अंक पर आ गया।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 96.90 अंक यानी 0.81 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,921.50 अंक पर आ गया। यह इसका भी दो सप्ताह का न्यूनतम स्तर है।

बाजार में बिकवाली चौतरफा रही और दूरसंचार को छोड़कर अन्य सभी समूहों के सूचकांक लाल निशान में रहे। बैंकिंग और वित्तीय कंपनियों के साथ ही ऑटो क्षेत्र ने बाजार पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया।

मझौली और छोटी कंपनियों में भी बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 1.26 प्रतिशत लुढ़ककर 14,667.37 अंक पर और स्मॉलकैप 0.86 अंक की गिरावट में 13,455.23 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में येस बैंक के शेयर करीब 10 प्रतिशत टूट गये। भारतीय स्टेट बैंक में तकरीबन पाँच फीसदी और इंडसइंड बैंक में तीन प्रतिशत से अधिक की गिरावट रही। टाटा मोटर्स के शेयर पौने तीन फीसदी टूटे। हालाँकि, निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक और एचडीएफसी बैंक हरे निशान में रहे।

विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच शेयर बाजार की शुरुआत अच्छी मजबूती के साथ हुई। सेंसेक्स 172.54 अंक चढ़कर 40,952.13 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा। घरेलू स्तर पर निवेशकों की निराशा का असर बाजार पर दिखा और बिकवाली के दबाव में दूसरे घंटे में ही बाजार लाल निशान में उतर गया। इसके बाद यह कभी वापसी नहीं कर सका।

विदेशों में अधिकतर शेयर बाजार बढ़त में रहे। एशिया में जापान का लिक्की 0.23 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.43 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.02 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसेंग 1.07 प्रतिशत चढ़ा। यूरोप में शुरुआती कारोबार में जर्मनी का डैक्स 0.28 फीसदी और ब्रिटेन का एफटीएसई 0.71 फीसदी की बढ़त में रहा।
बीएसई के समूहों में दूरसंचार की 0.21 प्रतिशत की तेजी को छोड़कर अन्य समूहों के सूचकांकों में नरमी रही। ऑटो में 1.78 प्रतिशत, वित्त में 1.34, बैंकिंग में 1.10, रियलिटी में 1.33, यूटिलिटी में 1.28, बिजली में 1.16, सीडीजीएंडएस में 1.15, इंडस्ट्रियल्स में 1.13 और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद में 1.10 फीसदी की गिरावट देखी गई।

सेंसेक्स की कंपनियों में येस बैंक के शेयर 9.82 प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक के 4.89, इंडसइंड बैंक के 3.05, टाटा मोटर्स के 2.77, महिंद्रा एंड महिंद्रा के 2.73, एचडीएफसी के 2.64, सनफार्मा के 1.86, मारुति सुजुकी के 1.77, ओएनजीसी के 1.71, एक्सिस बैंक के 1.64, आईटीसी के 1.46, हीरो मोटोकॉर्प के 1.43, एनटीपीसी के 1.32, बजाज ऑटो के 1.19, बजाज फाइनेंस के 0.93, टेक महिंद्रा के 0.88, एलएंडटी के 0.87, आईसीआईसीआई बैंक के 0.60, भारती एयरटेल के 0.55, हिंदुस्तान यूनिलिवर के 0.53, वेदांता के 0.35, पावरग्रिड के 0.32 और एचसीएल टेक्नोलॉजीज के 0.10 प्रतिशत लुढ़क गये।