सेंसेक्स 61 अंक लुढ़का, निफ्टी में पांच अंक की मामूली बढ़त

Sensex ends down 61 points,Nifty holds above 10400
Sensex ends down 61 points,Nifty holds above 10400

मुम्बई। अधिकतर विदेशी बाजारों के तेजी में रहने के बीच टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) में देश के सबसे बड़े औद्योगिक समूह टाटा संस की हिस्सेदारी बेचने की योजना संबंधी खबरों से आईटी समूह में बिकवाली का दबाव बढ़ गया, जिससे बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 61.16 अंक लुढ़ककर 33,856.78 अंक पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी हालांकि 5.45 अंक की मामूली तेजी में 10,426.85 अंक पर बंद हुआ।

घरेलू बाजार में जनवरी के औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (अाईआईपी) और फरवरी के खुदरा महंगाई के सकारात्मक आंकड़ों के दम पर निवेश धारणा ठीक-ठाक रही, लेकिन टीसीएस की खबरें पूरे दिन शेयर बाजार पर हावी रहीं। आईआईपी में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अाईआईपी में अप्रेल 2017 से जनवरी 2018 तक की अवधि में 4.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

इसके अलावा दालों की कीमतों में गिरावट के साथ अन्य खाद्य पदार्थों के दाम में भी अपेक्षाकृत कम बढ़ोतरी से फरवरी में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा महँगाई की दर लगातार दूसरे महीने घटती हुई चार महीने के निचले स्तर 4.44 प्रतिशत पर आ गयी। अमेरिका के महंगाई के आँकड़ों से पहले निवेशक सतर्क दिखे। महंगाई दर के आंकड़ों से ब्याज दर बढाने के फेडरल रिजर्व के फैसले का संकेत मिल पाएगा।

सोमवार की बेजोड़ बढ़त को खोता हुआ सेंसेक्स 99.72 अंक लुढ़ककर 33,818.22 अंक पर खुला। कारोबार के शुरुआती घंटों में यह 34,077.32 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर गया। लेकिन, टाटा संस द्वारा टीसीएस में 1.25 अरब डॉलर की हिस्सेदारी बेचे जाने की योजना से संबंधित खबरों से अपराह्न बाद यह लुढ़ककर 33,722.96 अंक के निचले स्तर तक गया और अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.18 प्रतिशत फिसलकर 33,856.78 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियों के हरे निशान में और 15 लाल निशान में रहीं। सर्वाधिक गिरावट टीसीएस के शेयरों में रही और इसके कारण आईटी समूह के सूचकांक में भी गिरावट रही।

निफ्टी भी 31.90 अंक की गिरावट के साथ 10,389.50 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 10,478.60 अंक के उच्चतम और 10,377.85 अंक के निचले स्तर को छूता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.05 प्रतिशत की तेजी में 10,426.85 अंक पर सपाट बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 29 कंपनियों में तेजी और 21 में गिरावट रही।

बीएसई में कुल 2,850 कंपनियों के शेयराें में कारोबार हुआ जिनमें 161 के भाव अपरिवर्तित रहे जबकि 1,724 में तेजी और 965 में गिरावट रही। दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मझोली कंपनियों का प्रदर्शन अच्छा रहा। बीसई का मिडकैप 1.00 फीसदी यानी 160.98 अंक की बढ़त में 16,269.25 अंक पर और स्मॉलकैप 1.14 प्रतिशत यानी 199.07 अंक की तेजी में 17,602.36 अंक पर बंद हुआ।

विदेशी बाजारों में तेजी का रुख रहा। शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.01 और जर्मनी का डैक्स 0.16 प्रतिशत की तेजी में रहा। एशिया में जापान का निक्की 0.66 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.02 और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.42 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट 0.46 प्रतिशत की गिरावट में रहा।

बीएसई के 20 समूहों में मात्र तीन के सूचकांक गिरावट में रहे। आईटी में सबसे अधिक 1.56, टेक में 1.06 और एफएमसीजी में 0.01 प्रतिशत की गिरावट रही। इसके अलावा बेसिक मटिरियल्स, सीडीजीएस, ऊर्जा, वित्त, स्वास्थ्य, इंडस्ट्रियल्स, दूरसंचार, यूटिलिटीज, ऑटो, बैंकिंग, पूंजीगत वस्तु, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, धातु, तेल एवं गैस, बिजली, रिएल्टी और पीएसयू में तेजी रही।

सेंसेक्स की 15 कंपनियों में तेजी और 15 में गिरावट रही। एक्सिस बैंक में 2.23, सन फार्मा में 2.04, विप्रो में 1.65, डॉ रेड्डीज में 1.60, भारती एयरटेल में 1.22, आईसीआईसीआई बैंक में 1.10, टाटा स्टील में 0.90, भारतीय स्टेट बैंक में 0.81, हीराे मोटोकॉर्प में 0.66, यस बैंक में 0.53, बजाज ऑटो में 0.48, एचडीएफसी में 0.45, टाटा मोटर्स में 0.44, एशियन पेंट्स में 0.40 और रिलायंस इंडस्ट्रीज में 0.40 प्रतिशत की तेजी रही।

टीसीएस में सबसे अधिक 5.22 प्रतिशत की गिरावट रही। कोटक महिंद्रा बैंक में 1.46, कोल इंडिया में 1.02, एनटीपीसी में 0.94, मारुति सुजुकी में 0.66, एलएंडटी में 0.59, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.52, हिंदुस्तान यूनीलीवर में 0.51, आईटीसी में 0.50, इंफोसिस में 0.45, एचडीएफसी बैंक में 0.36, अदानी पोटर्स में 0.34, इंडसइंड बैंक में 0.15, ओएनजीसी में 0.14 और पावर ग्रिड में 0.13 प्रतिशत की गिरावट रही।