शेयर बाजार में लौटी रौनक : सेंसेक्स 465 अंक और निफ्टी 149 अंक उछला

मुंबई। अंतरराष्ट्रीय बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच सकारात्मक आर्थिक आंकड़ों से उत्साहित निवेशकों की जोरदार लिवाली के दम पर घरेलू शेयर बाजार मंगलवार को लगातार तीन दिन की गिरावट से उबरने में कामयाब रहे।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 464.77 अंक की छलांग लगाकर 36,318.33 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 149.20 अंक की तेजी के साथ 10,886.80 अंक पर बंद हुआ।

शेयर बाजार में आज चौतरफा लिवाली का जोर रहा। बीएसई के 20 समूहों में सभी समूह के सूचकांक बढ़त में रहे और सेंसेक्स की 30 कंपनियों में मात्र तीन लाल निशान में रहीं जबकि शेष 27 हरे निशान में रहीं।

दिसंबर में खुदरा महंगाई दर के 18 माह के निचले स्तर पर और थोक महंगाई दर के आठ माह के निचले स्तर पर आने से निवेशकों का उत्साह बढ़ा है। सब्जी,फल, दालों और चीनी के दाम गिरने से उपभाेक्ता मूल्यों पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति की दर दिसंबर 2018 में घटकर 2.19 प्रतिशत पर रह गई। इसी तरह ईंधन और सब्जियों के दाम घटने से दिसंबर में थोक मूल्याें पर आधारित मुद्रास्फीति की दर आठ महीने के न्यूनतम स्तर 3.8 प्रतिशत पर दर्ज की गई।

विदेशी बाजारों में भी तेजी का रुख रहा। चीन की सरकार द्वारा आर्थिक सुस्ती को हटाने की दिशा में प्रयास करने की संभावनाओं के कारण हुई लिवाली से चीन का शंघाई कंपोजिट 1.36, हांगकांग का हैंगशैंग 2.02, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.58 और जापान का निक्की 0.96 प्रतिशत की तेजी में रही। यूराेपीय बाजारों में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.24 और जर्मनी का डैक्स 0.23 प्रतिशत की तेजी में रहा।

सेंसेक्स में आज पूरे दिन तेजी रही। यह बढ़त के साथ 35,950.08 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का निचला स्तर भी रहा। कारोबार के दौरान यह 36,349.31 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंचा। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 1.30 प्रतिशत की छलांग लगाकर 36,318.33 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह रहा। यह भी बढ़त में 10,777.55 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का निचला स्तर रहा। यह 10,896.95 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर से होता हुआ बीते दिन की अपेक्षा 1.39 प्रतिशत की तेजी के साथ 10,886.80 अंक पर बंद हुआ।

डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा के 71 रुपए प्रति डॉलर के स्तर से नीचे लुढ़कने और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में 1.1 प्रतिशत की तेजी के बावजूद निवेशकों का उत्साह पूरे दिन बना रहा जिससे घरेलू शेयर तीन दिन की गिरावट से उबरने में सफल रहे।

दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा छोटी और मंझोली कंपनियों में कम लिवाली रही। बीएसई का मिडकैप 0.58 प्रतिशत यानी 88.02 अंक की तेजी के साथ 15,190.17 अंक पर और स्मॉलकैप 0.70 प्रतिशत यानी 102.28 अंक की तेजी के साथ 14,638.42 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,735 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,552 कंपनियों के शेयरों के दाम बढ़ गए और 1,013 में गिरावट रही जबकि 170 कंपनियों के शेयरों के दाम दिन भर के उतार-चढाव के बाद अपरिवर्तित बंद हुए।