सेंसेक्स ने गिरावट के साथ 2019 को कहा अलविदा…

Sensex said goodbye to 2019 with fall
Sensex said goodbye to 2019 with fall

मुंबई। आखिरी दिन गिरावट के साथ वर्ष 2019 को अलविदा कहने के बावजूद बीएसई के सेंसेक्स में पूरे साल के दौरान 5,185.41 अंक यानी 14.38 प्रतिशत की बढ़त देखी गई। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में भी 1,305.90 अंक यानी 12.08 प्रतिशत की वार्षिक तेजी रही।

दिग्गज तथा बड़ी कंपनियों में मुनाफावूसली से घरेलू शेयर बाजार आज गिरावट में रहे। सेंसेक्स 304.26 अंक यानी 0.73 प्रतिशत की टूटकर 41,253.74 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 87.40 अंक यानी 0.71 प्रतिशत लुढ़ककर कारोबार की समाप्ति पर 12,168.45 अंक पर रहा।

शेयर बाजार का प्रदर्शन पिछले साल की तुलना में 2019 में बेहतरीन रहा। इस साल 20 दिसंबर को सेंसेक्स 41,681.54 अंक और निफ्टी 12,271.80 अंक के अब तक रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ था। वर्ष 2018 में सेंसेक्स 5.91 प्रतिशत चढ़ा था जबकि 2019 में यह 12 फीसदी से अधिक चढ़ा।

दिग्गज कंपनियों ने जहाँ निवेशकों को मालामाल किया, वहीं मझौली और छोटी कंपनियों में निवेश करने वालों को नुकसान उठाना पड़ा। बीएसई का मिडकैप पूरे वर्ष में 3.05 प्रतिशत और स्मॉलकैप 6.85 प्रतिशत लुढ़क गया। पिछले साल 31 दिसंबर को 15,438.45 अंक पर बंद होने वाला मिडकैप आज 0.03 फीसदी की गिरावट में 14,967.83 अंक पर रहा। स्मॉलकैप 31 दिसंबर 2018 को 14,706.69 अंक पर रहा था। यह आज 0.37 प्रतिशत की बढ़त के साथ 13,699.37 अंक पर पहुँच गया।

बीएसई के समूहों में आज ज्यादातर गिरावट में रहे। ऊर्जा समूह का सूचकांक 1.20 प्रतिशत टूट गया। दूरसंचार समूह और ऑटो समूह के सूचकांक 0.85 प्रतिशत की गिरावट में रहे। सीडीजीएंडएस, एफएमसीजी, बुनियादी वस्तुओं, वित्त, स्वास्थ्य, सूचना प्रौद्योगिकी, बैंकिंग, पूँजीगत वस्तुओं, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, तेल एवं गैस और टेक समूहों के सूचकांक भी लाल निशान में रहे। यूटिलिटीज समूह में सबसे ज्यादा 0.83 प्रतिशत की तेजी रही।

सेंसेक्स 49.49 अंक की बढ़त में 41,607.49 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर रहा। खुलते ही यह लाल निशान में उतर गया। आखिरी कारोबारी घंटे में 41,184.73 अंक तक फिसलने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 304.26 अंक नीचे 41,253.74 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,759 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,355 के शेयर बढ़त में और 1,205 के गिरावट में रहे। शेष 199 कंपनियों के शेयरों में टिकाव रहा।

निफ्टी की शुरुआत 8.75 अंक की गिरावट के साथ 12,247.10 अंक पर हुई और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर रहा। कारोबार की समाप्ति से पहले 12,151.80 अंक तक टूटने के बाद अंतत: यह 87.40 अंक लुढ़ककर 12,168.45 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 39 कंपनियों के शेयरों में बिकवाली और शेष 11 में लिवाली का जोर रहा।

सेंसेक्स की कंपनियों में टेक महिंद्रा के शेयर सबसे ज्यादा 2.51 प्रतिशत टूटे। बजाज ऑटो में 2.16 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज में 1.95, हीरो मोटोकॉर्प में 1.41, इंडसइंड बैंक में 1.31, एचडीएफसी और टीसीएस दोनों में 0.99, आईसीआईसीआई बैंक में 0.96, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.94, भारती एयरटेल में 0.89, एचडीएफसी बैंक में 0.71, हिंदुस्तान यूनिलिवर में 0.70, नेस्ले इंडिया में 0.67, मारुति सुजुकी में 0.64 और टाटा स्टील में 0.57 प्रतिशत की गिरावट रही।

एशियन पेंट्स के शेयर 0.48 फीसदी, टाइटन के 0.37, एचसीएल टेक्नोलॉजीज के 0.32, बजाज फाइनेंस के 0.31, एलएंडटी के 0.23, आईटीसी के 0.21, भारतीय स्टेट बैंक के 0.16, इंफोसिस के 0.14, कोटक महिंद्रा बैंक के 0.10 और एक्सिस बैंक के 0.03 प्रतिशत की गिरावट में रहे। मुनाफा कमाने वालों में एनटीपीसी के शेयर 2.01 प्रतिशत, सनफार्मा के 0.62, ओएनजीसी के 0.55, पावर ग्रिड के 0.29 और अल्ट्राटेक सीमेंट के 0.11 प्रतिशत चढ़े।