सेंसेक्स 578 अंक और निफ्टी 197 अंक उछला

Sensex soars 574 pts, Nifty reclaims 10300 as RBI lowers inflation forecast

मुंबई। विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कोई बदलाव न करने और सेवा क्षेत्र की गतिविधियों के तेज होने से उत्साहित निवेशकों की लिवाली के दम पर बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 577.73 अंक की तेजी में 33,596.80 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 196.75 अंक की बढ़त के साथ 10,325.15 अंक पर बंद हुआ।

बाजार में कारोबारी धारणा पूरे सत्र मजबूत बनी रही। रिजर्व बैंक ने दिवालिया प्रक्रिया से गुजरने वाली करीब 40 कंपनियों के ऋण के संबंध में बैंकों द्वारा किये जाने वाले प्रावधान में छूट देने की घोषणा की है जिससे बैंकिंग सूमह के सूचकांक में 2.78 प्रतिशत की बढ़ रही। नीतिगत दरों में बदलाव न करने की रिजर्व बैंक की घोषणा भी बाजार के अनुकूल रही।

निवेशकों को उम्मीद थी कि ब्याज दरों में परिवर्तन नहीं किया जायेगा। साथ ही रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने चालू वित्त वर्ष के विकास दर का अनुमान 7.2 प्रतिशत से बढ़ाकर 7.4 प्रतिशत कर दिया है और उसने 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष की चौथी तिमाही का खुदरा महंगाई दर अनुमान भी 5.1 प्रतिशत से घटाकर 4.5 प्रतिशत कर दिया है।

निवेशकों के लिए निक्की इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी सूचकांक भी सकारात्मक रहा। नये कारोबार में रही तेजी के दम पर देश के सेवा क्षेत्र की गतिविधियाें में मार्च में बढोतरी दर्ज की गयी और इसका निक्की इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी सूचकांक बढ़कर 50.3 पर पहुंच गया।

वैश्विक बाजार भी तेजी में रहे हैं। अमेरिका और चीन के बीच जारी तनातनी को कम करने की दिशा में अमेरिका के प्रयास से अमेरिकी शेयर बाजार के साथ अन्य यूरोपीय और एशियाई बाजार भी हरे निशान में रहे।

यूरोपीय बाजारों में ब्रिटेन का एफटीएसई 1.29 और जर्मनी का डैक्स 1.76 फीसदी की बढ़त में खुला। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 1.53 और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.22 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ।