अजमेर सेन्ट्रल जेल में अवैध वसूली के आरोप में 4 पुलिसकर्मियों सहित 7 अरेस्ट

अजमेर। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने अजमेर केंद्रीय कारागृह में पुराने बंदियों द्वारा नए बंदियों से अवैध मासिक वसूली करने के मामले में चार पुलिसकर्मियों से सात लोगों को गिरफ्तार किया है।

ब्यूरो के पुलिस अधीक्षक राजीव पचार ने बताया कि केन्द्रीय कारागृह में जेलकर्मियों की मिली भगत से पुराने बंदियों द्वारा नए बंदियों से मासिक बंदी वसूलने की शिकायते काफी समय से मिल रही थी।

इस पर ब्यूरो की टीम ने आज जेल में दबिश देकर कार्यवाही को अंजाम दिया तथा जेलकर्मी केसाराम, संजय सिंह, प्रधान बन्ना, अरुण सिंह के अलावा दो दलाल सागर तथा पोलो एवं एक कैदी दीपक उर्फ सनी को गिरफ्तार कर लिया गया।

उन्होंने बताया कि बंदी दीपक की आज ही पैरोल अवधि समाप्त होने वाली थी। एक अन्य शैतान सिंह को भी पुलिस जल्द ही हिरासत में लेगी। इन सभी का रैकेट नए बंदियों से अवैध वसूली में सक्रिय था।

उन्होंने बताया कि इन सभी का नए बंदियों के साथ नकारात्मक व सकारात्मक व्यवहार चलता था और पैसे के आधार पर ही सुविधा मुहैया कराते थे वरना उन्हें धमकाया करते थे। जेल में एक डेढ़ हजार रुपए वाले मूल्य के कीपैड वाले छोटे मोबाइल ज्यादा इस्तेमाल किए जाते थे ताकि पकड़े जाने पर ज्यादा नुकसान न हो।

उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान छह मोबाइल भी बरामद किए गए। कुछ दस्तावेज तथा बैंक अकाउंट की डिटेल भी हासिल की गई है। उन्होंने कहा कि मामले में अब आरोपियों से आगे पूछताछ जारी रहेगी।