उरई में कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा की युवतियों ने की पिटाई

जालौन/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जालौन के उरई कोतवाली क्षेत्र में दो युवतियों ने फोन पर अश्लील बातें कर परेशान करने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की सरेराह पिटाई कर दी।

उरई रेलवे स्टेशन के पास कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा की दो लड़कियों द्वारा सरेराह पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस लड़कियों का पता लगा रही है। वहीं मिश्रा ने स्वीकार किया कि युवतियों ने धोखे से उन्हे बुलाकर पिटाई की और वीडियो वायरल कर उनको बदनाम करने की कोशिश की।

वायरल वीडियो में लड़कियों के आरोप को नकारते हुए कांग्रेसी नेता ने कहा कि पिटाई करने वाली माया सिंह परिहार पार्टी की जिला इकाई में सचिव रह चुकी है जिसको दो दिन पहले यानी 30 अक्टूबर को पार्टी से हटाया गया था क्योंकि वह पार्टी के कार्यकलापों में बिल्कुल शिरकत नहीं कर रही थी। राजनीतिक द्वेष के चलते उसने उनकी बेइज्जती की। आरोपी लड़कियों के खिलाफ वह पुलिस में मामला दर्ज कराएंगे।

कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की एक दलील यह भी थी कि माया परिहार ने सरिया सीमेंट वगैरह किसी दुकान से खरीदा था जिसका भुगतान उन्होंने अपने कार्ड से कर दिया था। पार्टी की पदाधिकारी होने के नाते उन्होने यह भुगतान उधार के तौर पर किया था और वह पिछले कई दिनों से अपना पैसा वापस मांग रहे थे। इसी क्रम में माया ने उन्हें स्टेशन रोड पर बुलाया था और साजिश के तहत उनकी पिटाई की जिसका वीडियो उनके एक साथी ने बनाकर वायरल कर दिया।

उधर लखनऊ में कांग्रेस के मीडिया संयोजक ने कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की तरफदारी करते हुये कहा कि जिला सचिव के पद से हटायी गई माया परिहार की हरकत बर्दाश्त नही की जाएगी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष के जरिये पार्टी की छवि धूमिल करने की कोशिश का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। इस संबंध में हालांकि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।