18 महीने बाद शहादत हुसैन की प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी

ढाका। बांग्लादेश के तेज गेंदबाज शहादत हुसैन नवंबर 2019 में प्रथम श्रेणी मैच के दौरान टीम के एक साथी को थप्पड़ मारने के लिए पांच साल के प्रतिबंध के 18 महीनों बाद शनिवार को ढाका प्रीमियर डिवीजन के मैच में खेलते नजर आएंगे, हालांकि उनके प्रतिबंध के कम करने होने पर बंगलादेश क्रिकेट बोर्ड की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

समझा जाता है कि ओल्ड डीओएचएस स्पोर्ट्स क्लब के खिलाफ अपनी वापसी पर पार्टेक्स स्पोर्टिंग क्लब के लिए दो ओवर फेंकने वाले हुसैन को 18 महीने से अधिक प्रतिबंध नहीं सहना पड़ेगा। वह अपने पांच साल के प्रतिबंध के 18 महीने पूरे कर चुके हैं। दरअसल हुसैन ने फरवरी में बीसीबी से अपील की थी कि उनका प्रतिबंध कम किया जाए, ताकि वह अपना करियर फिर से शुरू कर सकें और अपनी मां के कैंसर के इलाज से संबंधित खर्चों को वहन कर सकें।

बीसीबी क्रिकेट संचालन के अध्यक्ष अकरम खान ने तब एक बयान में कहा था कि उन्होंने बोर्ड के उच्च अधिकारियों के साथ हुसैन का मामला उठाया है। उन्होंने कहा था कि वह अपने परिवार में बहुत परेशानी में है। उनकी मां को कैंसर है। वह अभी क्रिकेट नहीं खेल रहे हैं, इसलिए जब उन्होंने मुझे बुलाया तो मैंने कुछ निर्देशकों से बात की। हमने बीसीबी की अनुशासन समिति से अनुरोध किया है। हमें उनसे सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने की उम्मीद है। मैंने बोर्ड अध्यक्ष को भी सूचित कर दिया है और वह भी उनको लेकर सकारात्मक हैं। हमें उम्मीद है कि वह एनसीएल (नेशनल क्रिकेट लीग) में खेल सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि नवंबर 2019 में हुसैन ने टीम के एक साथी अराफात सनी जूनियर को खुलना में एक एनसीएल मैच के दौरान थप्पड़ मारा था। मैच से हटाए जाने के बाद उन पर लेवल 4 के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था, जिसके तहत उन पर एक लाख बंगलादेशी टका का जुर्माना और दो साल के लिए निलंबित सजा के साथ पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया था। इस बीच हुसैन ने मार्च में कहा था कि वह अपनी मां के इलाज के लिए पांच साल का प्रतिबंध पूरा होने से पहले प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं।