बारां में पट्टे के लिए रिश्वत मांगने के मामले में सरपंच जयप्रकाश नामदेव अरेस्ट

कोटा। राजस्थान में बारां जिले की शाहबाद ग्राम पंचायत के सरपंच जयप्रकाश नामदेव को आज भ्रष्टाचार निरोधक विभाग के कोटा की विशेष शाखा की टीम ने गिरफ्तार कर लिया।

शाहबाद ग्राम पंचायत के सरपंच जयप्रकाश नामदेव पर करीब सात महीने पहले एक कपड़ा व्यापारी से उसकी दुकान का पट्टा बनवाने के बाद रजिस्ट्री करवाने के एवज में पांच हजार रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप था।

इस मामले में करीब सात माह पहले कपड़ा व्यापारी ने भ्रष्टाचार निरोधक विभाग को सरपंच जयप्रकाश नामदेव के खिलाफ लिखित में परिवाद दिया था जिसकी ब्यूरो की विशेष शाखा ने गत अप्रैल माह में ही सत्यापन करा लिया था और चार अप्रैल को सरपंच जयप्रकाश नामदेव को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ने का जाल बिछाया था।

फरियादी पांच हजार रुपए की रिश्वत की राशि लेकर सरपंच के पास गया भी सही लेकिन सरपंच को शक हो जाने पर उसने यह रिश्वत की राशि नहीं दी और फरार हो गया।

इस मामले में भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने सरपंच के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था और गत चार नवम्बर को ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग के शासन सचिव ने इस मामले में सरपंच के खिलाफ कार्रवाई के लिए अभियोजन स्वीकृति जारी कर दी थी। इसके बाद भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने 17 नवम्बर को सरपंच को उपस्थित होने के नोटिस दिया था लेकिन वह नहीं आया।

ब्यूरो की विशेष शाखा की टीम ने सरपंच जयप्रकाश नामदेव को आज बारां रेलवे स्टेशन से उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह गुना (मध्य प्रदेश) किसी शादी समारोह में जाने के लिए यात्री गाड़ी पकड़ने रेलवे स्टेशन आया था। ब्यूरो की टीम उसे अपने साथ लेकर कोटा आई है।