शाहबाज शरीफ को किडनी में संक्रमण, कैंसर की आशंका

Shahbaz Sharif suffering from kidney infection
Shahbaz Sharif suffering from kidney infection

इस्लामाबाद। पाकिस्तान नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ को किडनी में संक्रमण है और उनको फिर से कैंसर होने की आशंका है।

शरीफ के मंगलवार को जारी स्वास्थ्य चिकित्सा प्रमाण में सामने आया है कि शरीफ की हालिया चिकित्सा जांच में स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं उजागर हुई हैं। डाक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य की देखरेख कर रही है।

पाकिस्तान के समाचार पत्र ‘द डॉन’ के अनुसार शरीफ के स्वास्थ्य चिकित्सा प्रमाणपत्र पर परामर्शदाता चिकित्सक डॉ. आसिफ इरफान, हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. हामिद इकबाल, सर्जन डॉ. नावेद उल्लाह और वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. इम्तियाज अहमद के हस्ताक्षर हैं।

स्वास्थ्य रिपोर्ट के अनुसार किडनी में तकलीफ और कैंसर के दोबारा उभरने की आशंका के मद्देनजर शरीफ को खुली हवा में रखा जाना चाहिए जबकि वह फिलहाल राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की हिरासत में हैं।

गौरतलब है कि नेब की हिरासत में ही शरीफ की करायी गयी पिछली स्वास्थ्य जांच में उनको मेडिकल बोर्ड ने पूरी तरह से स्वस्थ घोषित किया था।

शरीफ की जांच करने वाले एक डाक्टर का कहना है कि उनको पहले कैंसर था और इसके लिए उनका इलाज किया गया था। उनकी आंत के एक हिस्से को निकाला गया था। अब जांच में सामने आया है कि उन्हें फिर से कैंसर की तकलीफ होने की आशंका है।

उन्होंने कहा कि शरीफ के दाएं फेफड़े की लसीका ग्रंथि में आठ मिलीमीटर की गांठ है और बाईं किडनी में 5.9 मिलीमीटर मोटी वसा की परत है। उनकी किडनी काम कर रही है लेकिन उसमें संक्रमण है।

एक अन्य विशेषज्ञ ने कहा कि शरीफ को दोबारा कैंसर उभरने की आशंका है। उनको विशेषज्ञ के साथ जुड़े रहने का परामर्श दिया गया है। उन्होंने कहा कि उल्लेखनीय है कि मरीज को खुले हवादार कमरे में प्राकृतिक रोशनी में रखा जाना चाहिए। हवा की कमी के कारण मरीज में कैंसर फिर से विकसित हो सकता है।

गौरतलब है कि शरीफ पहले कह चुके हैं कि उनको ऐसे कमरे में रखा जाता है जहां पर उन्हें यह तक पता नहीं चलता कि दिन कब होता है और रात कब। डॉ. शाहिद हनीफ का कहना है कि शरीफ को उपचार कराने की आवश्यकता है क्योंकि उनकी रिपोर्ट संतोषजनक नहीं हैं।

शरीफ आशियाना आवास घोटाले के आरोप में पांच अक्टूबर से नेब की हिरासत में हैं। नेशनल असेंबली के 23 नवंबर को समाप्त हुए सत्र के बाद शरीफ को इस्लामाबाद के मिनिस्टर्स इन्कलेव स्थित आवास में नजरबंद किया गया था। मंगलवार को शरीफ को लाहौर भेज दिया गया।