शाहिद कपूर का मानना है बेमतलब का जोखिम उठाना बेतुका

Shahid Kapoor believes it absurd to take risks
Shahid Kapoor believes it absurd to take risks

मुंबईबॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर का कहना है कि किसी कलाकार के लिये बेमतलब का जोखिम उठाना उन्हें बेतुका लगता है। शाहिद का कहना है कि अभिनय के लिये उनका जुनून उन्हें लगातार अच्छा काम करने को प्रेरित करता है।

लेकिन साथ उनका मानना है कि एक अभिनेता के लिए बेमतलब के जोखिम उठाना भी बेतुका है। शाहिद ने अपने अब तक के करियर के दौरान जहां ‘जब वी मेट‘ ‘इश्क विश्क’ और ‘विवाह’ जैसी फिल्मों में रोमांटिक किरदार निभाये वहीं ‘कमीने’, ‘हैदर’ और ‘उड़ता पंजाब’ जैसी फिल्मों में उनके अभिनय के अलग रूप देखने को मिले।

शाहिद ने कहा कि जोखिम उठाना और अलग-अलग तरह के काम करना बेतुका है, लेकिन दूसरी ओर खुद को हर समय बेहतर बनाने की भी जरूरत है। आज के दौर में दर्शक कई तरह की चीजें देखना चाहते हैं। शाहिद ने कहा, ‘‘मैं खुद को बेहतर बनाना और ज्यादा से ज्यादा दर्शकों तक पहुंचना चाहता हूं. मैं ऐसी कहानियां बयां करना चाहता हूं जो नई हैं, अलग हैं और कला से समझौता किए बिना भी रोमांचक हो. यह एक मुश्किल संयोजन होगा।’’