मंत्री देवासी के खिलाफ परिवाद के बाद शर्मा के पति को आदिवासी क्षेत्र में भेजा

deputation order of sirohi mahila congress prez hunband

सबगुरु न्यूज-सिरोही। महिलाओं के संबंध में अभद्र टिप्पणी के आॅडियो में कथित रूप से राज्यमंत्री ओटाराम देवासी की आवाज होने की फोरेंसिक जांच करके परिवाद दर्ज करवाने वाली महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष हेमलता शर्मा के पति को 100 किलोमीटर दूर जिले के आदिवासी इलाके में भेज दिया गया है।

हाल ही में महिलाओं के संबंध में अभद्र टिप्पणी का एक आॅडियो वायरल हुआ है। इसमें राज्यमंत्री ओटाराम देवासी की आवाज बताई जा रही है। इस आॅडियो में कथित रूप से देवासी जैसी आवाज वाला व्यक्ति महिलाओं के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी करता हुआ सुनाई दे रहे हैं। देवासी इस आवाज को अपनी नहीं होने का दावा कर रहे हैं।

इसी आॅडियो के माध्यम से सिरोही जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया और गोपालन मंत्री ओटाराम देवासी के मध्य चल रहा शीत युद्ध सार्वजनिक हुआ था। इसमें आॅडियो के माध्यम से यह बात सामने आई कि पायल परसरामपुरिया को सिरोही विधानसभा क्षेत्र से आगामी चुनावों का टिकिट चाहिए।

इसमें यह भी चर्चा सामने आई है कि सिरोही के प्रभारी मंत्री राजेन्द्र यादव, भाजपा के वरिष्ठ नेता ओम माथुर, मंत्री युनुस खान के अलावा सिरोही के प्रभारी सचिव कुलदीप रांका का उनका इसमें सहयोग करने का भी आरोप लगाया गया है।

releving order of sirohi mahila congres prez husband

इस आॅडियो के वायरल होन के बाद गुरुवार को महिला कंाग्रेस की सिरोही जिला अध्यक्ष हेमलता शर्मा ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष राज्यमंत्री ओटाराम देवासी से खिलाफ महिलाओं लिए अभद्र टिप्पणी करने का परिवाद दर्ज करवाया था। इसके बाद शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा एक आदेश निकालकर उनके पति दिलीप शर्मा का कार्य व्यवस्था के नाम पर आबूरोड के उपलाखेजडा गांव के विद्यालय में स्थानांतरण कर दिया गया है।

इत्तेफाक से इस आॅडियो के वायरल होने के बाद शनिवार को ही ओटाराम देवासी भी सिरोही में ही थे और इसी दिन शर्मा को जावाल से रिलिव कर दिया गया। पूर्व में इसी तरह से सिरोही जिला चिकित्सालय की चिकित्सक को सिरोही से हटाने के लिए कार्यव्यवस्था के नाम पर आबूरोड भेजा गया था।

दरअसल, स्थानांतरण किए जाने पर न्यायालय से स्टे मिलने की आशंका से कतिपय राजनीतिक दबाव में इस तरह का आदेश करने का आरोप जिला शिक्षा अधिकारी पर लग रहा है। उल्लेखनीय है कि ओटाराम देवासी पूर्व में विधानसभा में कालन्द्री की सरपंच के पद पर रहने के दौरान हेमलता शर्मा के प्रश्न उठा चुके हैं। इसके बाद भाजपा के सत्ता में आने के बाद उनको पदच्युत करने के मामले में भी उन पर आरोप लगा था।

शर्मा सिरोही में लोढा गुट की नेता मानी जाती हैं और आगामी विधानसभा चुनावों में ओटाराम देवासी की आॅडियो को ब्रह्मास्त्र के रूप में इस्तेमाल करने की प्रबल आशंका है। देवासी माताजी के मंदिर में पुजारी है और हाल ही में कांग्रेस द्वारा उठाए गए कदमों से यही जाहिर हो रहा ेहै कि वह आगामी चुनावों में एक देवी भक्त के मुंह से महिलाओं के लिए इस तरह की अभद्र टिप्पणी निकलने को प्रमुख मुद्दा बना सकती है। वैसे राजनीतिक हलकों में भाजपाई भी दिलीप शर्मा के कार्य व्यवस्था के नाम पर स्थानांतरण को हिट विकेट ज्यादा मान रहे हैं।

related news…

गोपालन राज्यमंत्री ओटाराम देवासी पर फिर मुसीबत, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने sp को दिया परिवाद

गोपालन मंत्री और जिला प्रमुख विवाद पर पहली बार बोले सिरोही भाजपा जिलाध्यक्ष

भाजयुमो सरूपगंज बैठक में नहीं मिल पाएगा गोपालन मंत्री का सार्वजनिक जवाब!

वायरल आॅडियो के बाद गोपालन मंत्री और जिला प्रमुख का राजनीतिक अंतरद्वंद्व हुआ सार्वजनिक