शिवसेना सांसद संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा

मुंबई। मुंबई की एक विशेष अदालत ने सोमवार को मनी लांड्रिंग के एक मामले में गिरफ्तार शिवसेना सांसद संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकील हितेन वेनेगवकर ने अदालत को बताया कि ईडी को राउत की अतिरिक्त हिरासत की आवश्यकता नहीं है। इसके बाद राउत अब आर्थर रोड जेल में रहेंगे, जहां राकांपा के दो वरिष्ठ नेता पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और पूर्व मंत्री नवाब मलिक मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्तता के आरोप में रखे गए हैं। अदालत ने जेल में राउत के लिए घर का खाना और दवा की इजाजत दे दी है।

राउत को प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को हिरासत की अवधि समाप्त होने के बाद पेश किया था। अदालत ने पिछले सप्ताह राउत की ईडी हिरासत आठ अगस्त तक बढ़ा दी थी, जबकि एजेंसी ने मामले में ‘उल्लेखनीय प्रगति’ की है।

ईडी ने दावा किया कि राज्यसभा सदस्य राउत पहले सामने आए 1.06 करोड़ रुपए के अलावा 1.17 करोड़ रुपए की अपराधिक आय का लाभार्थी पाया है। गोरेगांव में पात्रा चॉल के पुनर्विकास में कथित वित्तीय अनियमितताओं के सिलसिले में शिवसेना नेता को एक अगस्त को गिरफ्तार किया गया था। संजय राउत (60) शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के करीबी सहयोगी हैं।