शिव शांति संत आसूदाराम आश्रम लखनऊ को सिंधुपति महाराजा दाहरसेन सम्मान

अजमेर। सिंधुपति महाराजा दाहरसेन के 1307वें बलिदान दिवस पर सांतवां राष्ट्रीय सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन सम्मान 2019 शिव शांति संत आसूदाराम आश्रम लखनऊ के प्रतिनिधि को प्रदान किया गया। सम्मान में 51000 रुपए के साथ स्मृति चिन्ह, शॉल, श्रीफल प्रदान किया गया।

सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन स्मारक पर आयोजित समारोह में देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रम, हिंगलाज माता व जगद्गुरू श्रीचन्द्र भगवान की पूजा-अर्चना व दाहरसेन को श्रद्धासुमन अर्पित करने के साथ संत महात्माओं के आशीर्वचन हुए। कबड्डी प्रतियोगित व रंग भरो प्रतियोगिता के विजेताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर महामण्डलेश्वर स्वामी हंसराम महाराज ने कहा कि शूरवीर व देवताओं के बिना यह धरती नहीं बच सकती। दाहरसेन स्मारक पर हिंगलाज माता, जगद्गुरू श्रीचन्द्र भगवान, महाराजा दाहरसेन संत कवंरराम हेमू कालाणी जैसे शूरवीरों की दर्शन कर तीर्थयात्रा के समान है।

हमारी भी ऐसी संतानें हो जो देश के लिए जिये। इस अवसर पर शातानन्द आश्रम के महंत स्वामी हनुमानराम, ईश्वर मनोहर उदासीन आश्रम के महंत स्वरूदास उदासीन, नृसिंह मन्दिर के महंत श्याम शरण, स्वामी ईसरदास, भाई फतनदास, गौतम सांई, सांई अर्जुनराम के साथ आए संत महात्माओं का आशीर्वाद प्रदान किया।

पूर्व सांसद ओंकार सिंह लखावत ने कहा कि धरती पर यदि स्वर्ग है तो सिंध है, दाहरसेन के बिना सिंध अधूरा है, आज यह स्मारक बनाना सार्थक हो गया। सिंध की मोइन जोदड़ों की सभ्यता सबसे पुरानी है।

समारोह में विधायक वासुदेव देवनानी, उप-महापौर सम्पत सांखला, मदस शोधपीठ की निर्देशक डॉ. लक्ष्मी ठकुर, पूर्व विभागध्यक्ष डॉ.एनके उपाध्याय, संघ के महानगर संघ चालक सुनील दत्त जैन, पूर्व विधायक हरीश झामनाणी ने भी विचार व्यक्त किए। समारोह समिति की ओर से स्वागत भाषण कंवलप्रकाश किशनानी व आभार मोहन तुलस्यिाणी न जताया। मंच संचालन आभा भारद्वाज व महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने किया। हिंगलाज माता पर पूजा अर्चना ताराचन्द राजपुरोहित व लक्षमणदास दौलताणी ने कराई।

कार्यक्रम में सभा के जिलाध्यक्ष मोहनलाल आलवाणी, अशोक तेजवाणी, मोहन कोटवाणी, नवीन सोगानी, भैरू गुर्जर, तुलसी सोनी, जयकिशन पारवाणी, रमेश मेंघाणी, कुमार लालवाणी, गौरव मीरवाणी, कैलाश लखवाणी, महेश्वरी गोस्वामी, राम गीता मटाई, जयकिशन लख्याणी, मोहन लालवाणी, नरेन्द्र सोनी, सुनील, सहित विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित थे। जीव सेवा समिति व सिन्धी युवा संगठन द्वारा जल, शर्बत व प्रसाद वितरण किया गया।

देशभक्ति आधारित नृत्य व गायन कार्यक्रम

कुमारी मुस्कान कोटवाणी ने वन्दे मातरम तथा घनश्याम भगत द्वारा निर्देशित देशभक्ति आधारित कार्यक्रम में स्वामी सर्वानन्द विद्यालय की चंचल, हर्षिता, तुलसी, प्रेरणा ने तेरी मिट्टी में मिल जावा…., कहते हैं हमको प्यार से भारत वाले…., पूज्य सिन्धी पंचायत पंचशील ने सत्यमेव जयते पर नृत्य…., ऐ वतन ऐ वतन आबाद रहे…, वैशाली नगर की ओर से वर्षा लालवाणी ने ऐ मेरे वतन के लोगों… तथा हरिसुन्दर बालिका विद्यालय गुजंन केसवाणी ने शानदार प्रस्तुतियां दी।

कबड्डी व रंगभरो प्रतियोगिता के विजेता सम्मानित

सिन्धी युवा संगठन की ओर से आयोति कबड्डी प्रतियोगिता में विजेता संत कवंरराम टीम व उपविजेता शहीद हेमू कालाणी टीम के खिलाडियों को सम्मानित किया गया। इसी तरह रंगभरो प्रतियोगिता के विजेताओं का भी सम्मान किया गया। रंगभरो प्रतियोगिता में स्वामी सर्वानन्द विद्यालय में वरिष्ठ वर्ग में प्रथम स्नेहा रामचंदाणी, द्वितीय पीयूष रामचंदाणी व तृतीय सृष्टि लालवाणी व कनिष्ठ वर्ग में प्रथम ख्वाहिश रामचंदाणी, द्वितीय मोहित कलवाणी व तृतीय पायल लालवाणी विजेता रही।

पूज्य सिन्धी पंचायत, पंचशील नगर में प्रथम गरिमा वरलाणी, द्वितीय देव विघाणी व तृतीय लक्ष्य शाहणी रहे। पार्वती उद्यान अजयनगर के प्रथम कुणाल कोटाई, द्वितीय प्रथम प्रदीप, तृतीय य श झमटाणी व रोहित बच्चाणी रहे। लीलेश्वर महादेव धोला भाटा में प्रथम वैष्णवी अनिल, द्वितीय कनिष्क देवनाणी व तृतीय कोमल झूराणी रहे।

प्रेम प्रकाश आश्रम वैशाली नगर में दो वर्गों में आयोजित की गई जिसमें वरिष्ठ वर्ग में प्रथम मयूरी लालवाणी, द्वितीय रक्षित बच्चाणी, तृतीय आरूषि आसवाणी व कनिष्ठ वर्ग में प्रथम कोमल कोडवाणी, द्वितीय तरूण कुमार व तृतीय जतिन लालवाणी विजेता रहे।

सांई बाबा मन्दिर में प्रथम खुशी जज्ञासी, द्वितीय महक मनवाणी व तृतीय जिया चंदवाणी व कनिष्ठ वर्ग में प्रथम रितेश तोतवाणी, द्वितीय जतिन कर्मचंदाणी व तृतीय नितिशा सचानंदाणी, झूलेलाल मन्दिर नसीराबाद के ग्रुप प्रथम ऐश्वर्य चांदवाणी, द्वितीय दिशा चांदनाणी, गु्रप द्वितीय – प्रथम भव्या कुलवाणी द्वितीय वंशिका टिकयाणी, ग्रुप तृतीय प्रथम भाविका रामचंदाणी, द्वितीय चाहत सम्मिलित थे।