शुभमन-शंकर को टीम में मिली राहुल-पांड्या की जगह

नई दिल्ली। ऑलराउंडर विजय शंकर और बल्लेबाज़ शुभमन गिल को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने विवादों में घिरे हार्दिक पांड्या तथा लोकेश राहुल की जगह आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है।

भारतीय बोर्ड ने रविवार को एक बयान में इसकी जानकारी दी। टीवी शो काॅफी विद करण पर महिलाओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले दोनों भारतीय क्रिकेटरों पांड्या और राहुल को जांच के चलते स्वदेश बुला लिया गया है जो इस विवाद के दौरान आस्ट्रेलिया दौरे पर टीम का हिस्सा था। जांच पूरी होने तक दोनों टीम से निलंबित कर दिए गए हैं।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए पहले वनडे में भी दोनों विवादित खिलाड़ियों को टीम में नहीं लिया गया था। यह मैच भारत 34 रन से हार गया था। बीसीसीआई ने बयान में कहा कि राहुल और पांड्या के स्वदेश लौटने की स्थिति में अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति ने ऑलराउंडर विजय शंकर और बल्लेबाज़ शुभमन गिल को टीम में शामिल करने का फैसला किया है।

बोर्ड ने कहा कि विजय शंकर एडिलेड में दूसरे वनडे से पूर्व भारतीय टीम से जुड़ जाएंगे। वह आस्ट्रेलिया के साथ हो रही वनडे सीरीज़ में टीम का हिस्सा होंगे और न्यूजीलैंड का दौरा भी करेंगे। शुभमन को न्यूजीलैंड में वनडे और ट्वंटी 20 सीरीज़ के लिये भारतीय टीम में चुना गया है।

गिल ने अभी तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पदार्पण नहीं किया है जबकि शंकर ने भारत के लिये पांच ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेले हैं। गिल वर्ष 2018 में आईसीसी अंडर-19 विश्वकप के दौरान प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे और मध्यक्रम के उपयोगी बल्लेबाज साबित हुए थे। वह रणजी क्रिकेट में शानदार फार्म में खेल रहे हैं और उनका सत्र में औसत 103 है जबकि लिस्ट ए क्रिकेट के 37 मैचों में उन्होंने 47.72 के औसत से रन बनाए हैं।

पांड्या ने टीवी शो पर महिलाओं के साथ शारीरिक संबंधों की बात कही थी और उसके लेकर कई भद्दी टिप्पणियां भी की थी जबकि उनके साथ मौजूद अन्य टीम साथी राहुल ने भी उनकी बयानों पर मजाकिया प्रतिक्रिया दी थी जिसके लिए दोनों खिलाड़ियों की सोशल नेटवर्क पर कड़ी आलोचना हुई थी। खुद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दोनों क्रिकेटरों के बयानों की कड़ी निंदा की थी और कहा था कि यह टीम की मानसिकता को नहीं दर्शाता है।

यह विवाद ऐसे समय पैदा हुआ जब भारत आस्ट्रेलिया दौरे में अपनी पहली ऐतिहासिक टेस्ट जीत का जश्न मना रहा था। इसके बाद पांड्या ने ट्विटर पर सार्वजनिक रूप से अपने बयान के लिए माफी मांगी थी। इस बाबत दोनों खिलाड़ियों को बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति के सामने भी अपना स्पष्टीकरण देना पड़ा है। मामले में फिलहाल जांच तक उन्हें क्रिकेट के सभी प्रारूपों से निलंबित कर दिया गया है। वहीं दोनों के क्रिकेट करियर पर भी सवालिया निशान खड़ा हो गया है।