सिरोही भाजपा व्हाट्सएप ग्रुप से सुबह शुरू हुआ विवाद रात में थाने पहुंचा

सिरोही भाजपा के व्हाट्स एप समूह से उठे विवाद के गोयली चौराहे पर दुव्र्यवहार में बदलने पर कोतवाली पहुंचे भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता।
सिरोही भाजपा के व्हाट्स एप समूह से उठे विवाद के गोयली चौराहे पर दुव्र्यवहार में बदलने पर कोतवाली पहुंचे भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता।

सिरोही। भाजपा सिरोही नगर के व्हाट्सएप ग्रुप में हुआ वर्चुअल विवाद रात को फिजिकल दुर्व्यवहार तक पहुंच गया। रात को गोयली चौराहे पर सिरोही भाजपा के निवर्तमान मंडल अध्यक्ष महिपालसिंह चारण से कथित तौर पर उन्हीं के पार्टी के एक कार्यकर्ता द्वारा दुर्व्यवहार करने का मामला रात करीब साढ़े नौ बजे थाने पहुंच गया। कथित तौर पर उनके साथ पार्टी के ही दो तीन लोगों ने दुर्व्यवहार किया था।

सिरोही कोतवाल राजेन्द्र राजपुरोहित ने बताया कि एक पक्ष ने तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दी है। जिसे ले लिया गया है। महिपालसिंह द्वारा दी गई शिकायत में तीन जनों के नाम होने की जानकारी सामने आई है। महिपालसिंह ने बताया कि कोतवाली ने रिपोर्ट की कॉपी सवेरे मुहैया करवाने को कहा है।

निवर्तमान भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष ने बताया कि भाजपा नगर का व्हाट्स एप समूह है। इस व्हाट्स एप समूह में से सुबह एडमिन ने एक साथी को बाहर निकाल दिया था। भाजपा के निवर्तमान मंडल अध्यक्ष महिपालसिंह चारण ने बताया कि वे गोयली चौराहे पर खड़े होकर अपने साथियों का इंतजार कर रहे थे। व्हाट्सएप समूह से निकाले गए मांगूसिंह अन्य साथियों के साथ वहां आए और उन्होंने व्हाट्सएप ग्रुप से निकाले जाने के बारे में पूछा।

उन्होंने इसके बारे समूह एडमिन से बात करने को कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि बात बात में उन्होंने उनके साथ दुर्व्यवहार कर दिया। सिरोही कोतवाली में इस प्रकरण की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए भाजपा सिरोही के कई वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों के साथ सिरोही कोतवाली पहुंचे थे।

रिपोर्ट देने के बाद जब एक पक्ष बाहर निकला तो दूसरे पक्ष के कुछ लोग भी थाने में पहुंचे थे। फिलहाल दूसरे पक्ष ने कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई है। मामले के थाने तक पहुंचते ही वरिष्ठ भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता इसे परिवार का मामला बताते हुए समझाइश में भी लग गए हैं।

चूरमा पार्टी के बाद ही बना था नया समूह

पिछले महीने भाजपा के असंतुष्ट धड़ेे की सिरोही में एक गोट हुई थी। गोट के बहाने एकत्रित हुआ असंतुष्ट धड़ा सिरोही भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित की कार्यप्रणाली से खफा बताया जा रहा था। यह मामला जब उछला और यह बात सामने आई कि इसमें असंतुष्ट धड़ा एकत्रित हुआ है तो एक रात को सिरोही शहर के सभी भाजपा पदाधिकारियों की एक संवैधानिक चूरमा पार्टी हुई।

इस चूरमा पार्टी में यह निर्णय लिया गया कि शहर के सभी अलग-अलग व्हाट्सएप समूहों को भंग करके एक समूह बनाया जाएगा। जिसमें शहर मंडल के कार्यकर्ताओं को जोड़ा जाएगा। जिस व्हाट्सएप समूह को लेकर मंगलवार सवेरे से विवाद चल रहा था वो ये ही एकीकृत व्हाट्सएप समूह है। मंगलवार रात को हुए विवाद में कथित रूप से शामिल मांगूसिंह को भी भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित के करीबी बताया जाता है। वो भी नए समूह का हिस्सा थे।