फोन पर हुई ऐसी लापरवाही,एसपी ने दोहराई प्रभारी मंत्री की बात, कहा लोढा ने खोया संतुलन , आॅडिया वायरल

sirohi sp om prakash and sanyam lodha

सबगुरु न्यूज-सिरोही। सिरोही पुलिस अधीक्षक के अपने ही चैम्बर में मोबाइल पर वार्ता के दौरान हुई हल्की सी चूक ने सिरोही में नया राजनीतिक बवाल पैदा कर दिया है। एक मोबाइल पर बात करते समय दूसरे मोबाइल की काॅल उठ गई और दूसरे मोबाइल पर फोन करने वाले के मोबाइल में पहले फोन पर पुलिस अधीक्षक द्वारा की गई सभी बातें रिकाॅर्ड हो गई।

 

सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस रिकाॅर्डिंग के अनुसार पुलिस अधीक्षक पहले फोन पर बात करने वाले शख्य से सिरोही के पूर्व विधायक संयम लोढा पर टिप्पणी और कटाक्ष करते हुए लोढा के दिमाग खराब होने की बात कर रहे थे। इस रिकाॅर्डिंग के वायरल होने के बाद लोढा ने जहां मीडिया में इसे भाजपा की साजिश बताया और राय मशविरे के बाद कानूनी कार्रवाई की बात कही। वहीं पुलिस अधीक्षक ने इसे हिस्ट्रीशीटर की हरकत बताया।
-यह है आॅडियो रिकाॅर्डिंग में….
सिरोही पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश किसी अन्य फोन पर बात करते हुए उनके दूसरे मोबाइल पर किसी गोरक्षा कमांडो फोर्स के एसएस राजपुरोहित के फोन को भी उठा लेते हैं, लेकिन इस मोबाइल से बात नहीं करके दूसरे मोबाइल पर ही बात करते रहते हैं। इस दौरान एसएस राजपुरोहित के मोबाइल के चालू होने से पुलिस अधीक्षक द्वारा दूसरे मोबाइल पर की जा रही बात एसएस राजपुरोहित के मोबाइल में रिकाॅर्ड हो जाती है। जिसे बाद में वायरल कर दिया गया।

एसएस राजपुरोहितः हां जी, एसपी साहब नमस्कार
एसपीः एसएस राजपुरोहित के फोन पर बात नहीं करके दूसरे फोन पर मौजूद व्यक् ित सेः किससे
इस दौरान एसएस राजपुरोहित यह समझता रहा कि एसपी उनसे बात कर रहे हैं।
एसएस राजपुरोहितः एसपी साहब सिरोही नमस्कार
एसपीः दूसरे फोन पर बात करते हुए हां, अच्छा
एसएस राजपुरोहित: दिल्ली से बात कर रहा हूं मैं सुरेंद्र सिंह राजपुरोहित
एसपी : हां
एसएस राजपुरोहित : मैं दिल्ली से बात कर रहा हूं सुरेंद्र सिंह राजपुरोहित, गोरक्षा कमाण्डो फोर्स
एसपीः (एसएस राजपुरोहित के फोन चालू होते हुए दूसरे फोन पर बात करते हुए।) आज इसलिए बढ़ गया था कि गांव वालों ने बड़ा सहयोग किया अभी छगनजी वगैरा आज 90 प्रतिशत बाजार खुला है वहां पर।
एसएस राजपुरोहितः यह समझते हुए कि एसपी उनसे बात कर रहे हैं। हांजी
एसपीः (लगातार दूसरे फोन पर बात करते हुए) वोतो सिर्फ पुरोहित-पुरोहित ने बंद कर रखा था, बाकी 90 प्रतिशत खुला है। मेरी ठाकुर साहब से बात हुई थी, छगनजी से बात हो गई थी और वो जो व्यापार संघ का अध्यक्ष है उससे बात हो गई है।
एसपीः आज बाजार सारा वहां खुला है, लेकिन ये क्या है कि ये फालतू नाटक करता है जी। संयम लोढ़ा … कि वहां पर पलायन हो गए लोग, घर छोड़ कर चले गए। मुसलमान भाग रहे हैं, ये चले गए।
(दूसरी तरफ के व्यक्ति की बात सुनने के दौरान कुछ विराम)
एसपीः आप इनको क्या काउंटर करो इनके साथ, ये क्या, माहौल ऐसा बनाते हैं जैसे मतलब कोई, क्या ऐसा हो रहा है? और क्या जला दिया। और मेरे से तो क्या दस एक दिन से बोलचाल हो गई थी। वो क्या मैसेज ऊपर ही देता है, उपर से आईजी साहब से भी बात नहीं करता है ये।
दूसरी तरफ से आ रही बात को सुनने के लिए पाॅज
एसपीः (हंसते हुए) उन्होंने भी इसको लपका दिया था।
एसपीः ना ये पन्नालाल से बात करता है एडिशन एसपी से।
पाॅज
एसपीः ये तो अपनी बणिया नेट पर बात करता है। जहां करनी है वहां।
पाॅज
एसपीः और कुछ भी हो उठा लिया आपके जो राजगुरु और चार-पांच को और
पाॅज
एसपीः और कुछ नहीं बस शाम तक
पाॅज
एसपीः इंद्रजीतसिंह, कन्हैयालाल…
एसपीः अब ये ज्यादा हो गया है थोड़ा सा। अब कुछ करना चाहिए।
पाॅज
एसपीः हां
पाॅज
एसपीः ठीक
पाॅज
एसपी: बसबस, आप अब देख लेना संयम लोढा मेटर को
पाॅज
एसपीः फिलहाल कुछ नहीं बकवास करता है ये। यहां पे, इसको टिकिट तो मिल नहीं रही।
पाॅज के दौरान एसपी की हंसी
एसपी: हारगया दो बार, ये मानसिक संतुलन खो गया।
पाॅज
एसपीः और अबके हार जाएगा तो पागल हो जाएगा ये।
पाॅज के बाद हंसते एसपी बोले कि आत्महत्या कर लेगा ना ये।
(फिर ंसभवतः एसपी ओमप्रकाश ने पहला फोन रख दिया, लेकिन इस दौरान भी एसएस राजपुरोहित का फोन चालू ही रहा, इस दौरान संभवतः आॅफिस के ही किसी कागज को देखते हुए चैम्बर में बैठे किसी व्यक्ति की ओर मुखातिब होते हुए) एसपी : ये देखो ये मुंबई में ज्ञापन देते हैं ये मुख्यमंत्री को।
चेम्बर में बैठा दूसरे अधिकारी की आवाजः वहां से भी फोन फान करवा रहे हैं।
एसपी हंसते हुएः अपने पास तो फोन आ नहीं रहा।
फिर संभवतः एसएस राजपुरोहित वाले फोन को होल्ड पर रखा।

सुनिये पूरी वाईरल ओडियो….

https://drive.google.com/file/d/1cMY8IRZHFdDJJFVjKAsI2uCrCRGOUdGU/view?usp=drivesdk