संत की हत्या के मामले में सिरोही आरएसएस जिला प्रचारक को जेल भेजा

जिला प्रचारक को न्यायालय में प्रस्तुत करने के लिए लेकर आते समय कलक्ट्री में पुलिस और आरएसएस के पदाधिकारी।
जिला प्रचारक को न्यायालय में प्रस्तुत करने के लिए लेकर आते समय कलक्ट्री में पुलिस और आरएसएस के पदाधिकारी।

सबगुरु न्यूज-सिरोही। जिला मुख्यालय पर 11 नवम्बर की रात को शांतिनगर स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यालय पर श्रीराम कथा वाचक और विहिप के एकल विध्यालय कार्यक्रम से जुडे संत अवधेशानंद की नृशंस हत्या के मामले में आरएसएस के जिला प्रचारक उत्तमगिरी को न्यायालय ने मंगलवार को जेल भेज दिया है। न्यायालय के आदेश के बाद सिरोही पुलिस ने उन्हें सिरोही जिला कारागार में भेज दिया है।

संगठनात्मक विवाद के कारण 11 नवम्बर की शाम को आरएसएस के जिला कार्यालय में प्रवीण तोगडिया के संगठन अंतरराष्ट्र्रीय हिन्दु परिषद से जुडे संत अवधेशानंद की नृशंसतम हत्या हो गई थी। उनके चाकूओं से गोदा हुआ उनका शरीर आरएसएस जिला कार्यालय के कमरे में मिला। उनकी गर्दन बुरी तरह कट चुकी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर के कई हिस्सों में चाकूओं करीब 35 घाव मिले।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उनके गले पर के घाव के कारण और रक्तस्राव के कारण उनकी मृत्यु हो गई। इस घटना में आरएसएस के जिला प्रचारक उत्तमगिरी के भी घाव आए। उन्हें सिरोही चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार के बाद उदयपुर रेफर कर दिया गया।

वहां से उपचार के दो दिन बाद उन्हें फिर सिरोही जिला चिकित्सालय लाया गया था। इस दिन सिरोही जिला चिकित्सालय में सिरोही और पाली के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कई पदाधिकारी और स्वयंसेवक एकत्रित थे।

पुलिस भी जिला प्रचारक के बयानों और गिरफïतारी के लिए वहां थी। लेकिन, चिकित्सकों ने उत्तमगिरी की तबीयत सही नहीं होने की बात कहते हुए उन्हें फिर से उदयपुर रेफर कर दिया। रविवार रात को पुलिस ने उत्तमगिरी को संत अवधेशानंद की हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया।

सोमवार को न्यायालय में पेश करके पुलिस रिमांड लिया। एक दिन के रिमांड के बाद मंगलवार को न्यायालय में पेश करने पर संत की हत्या के आरोपित आरएसएस जिला प्रचारक उत्तमगिरी को जेल भेज दिया गया।