सिरसा डेरा के मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल का संचालन सरकार ने संभाला

Dera Sacha Sauda Shah Satnam Ji Speciality multi-specialty hospital in Sirsa

सिरसा। हरियाणा के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा में चल रहे शाह सतनाम जी मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल का संचालन राज्य सरकार ने अपने अधीन कर लिया है।

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने पिछली 12 जुलाई को इस संबंध में निर्देश दिया था जिसके बाद सिरसा नागरिक अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी गोबिंद गोयल को इस अस्पताल की संचालन समिति का अध्यक्ष बनाया गया है।

गोयल ने रविवार को बताया कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद राज्य सरकार की तरफ से दी गई हिदायत अनुसार उन्होंने अस्पताल के संचालन का काम संभाल लिया है। सिरसा नागरिक अस्पताल के डॉ राजकुमार, डॉ प्रमोद कुमार, डॉ गोपी राज, लेखाकार प्रेम चंद, कृष्ण कुमार चीफ फार्मासिस्ट व महेश कुमार बॉयोमेडिकल इंजीनियर पर आधारित टीम ने कार्यभार संभालकर अस्पताल का संचालन आरंभ कर दिया है।

डेरा प्रबंधन की आेर से पूर्व में तैनात किए गए चिकित्सक व अन्य कर्मचारी भी वहां सेवारत्त हैं मगर उनके कार्य के संचालन का जिम्मा अब सरकार की हिदायत अनुसार ही होगा। उन्होंने बताया कि डेरा अस्पताल को चलाने के लिए जुटाई जाने वाली सुविधाएं अब गठित कमेटी ही प्रदान करेगी।

डॉ गोबिंद ने बताया कि अस्पताल के काफी लंबे समय से बैंक खाते सील होने के कारण कई सुविधाएं बाधित हुई पड़ी हैं जिन्हें सुचारू करने के लिए राज्य सरकार के पास सील बैंक खाते खोलने का आग्रह किया भेजा गया है।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह के साध्वी यौन शौषण मामले में विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो अदालत के दोषी करार देने के बाद पिछले साल अगस्त माह में जेल चले जाने के बाद हरियाणा, पंजाब के कुछ हिस्सों में हिंसा भड़क उठी थी। बाद में उच्च न्यायालय के आदेश से डेरा सच्चा सौदा की व्यवसायिक गतिविधियों पर विराम लगा दिया गया था।

व्यवसायिक प्रतिष्ठानों व उनके बैंक खातों को आगामी आदेशों तक सील कर दिया गया था। इनमें यह अस्पताल भी शामिल था। अस्पताल में उपचार करा रहे मरीजों के गुहार लगाने के बाद उच्च न्यायालय ने अस्पताल को खोलने के आदेश तो दे दिए थे मगर इसका संचालन डेरा की प्रबंधन समिति ही कर रही थी।

इसके बाद डेरा के शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे बच्चों की शिक्षा पर विपरीत प्रभाव के कारण कालेज व स्कूल भी खोलने की अनुमति न्यायालय ने दे दी मगर खाते आज भी सील हैं। डेरा की अथाह चल अचल संपति की जांच अभी जारी है।