सिरसा : मां ने जिसे पुलिस से छुड़वाया वही निकला बेटी का कातिल

सिरसा। हरियाणा के सिरसा पुलिस ने रानियां थानांतर्गत गींदड़ गांव से गत 25 सितम्बर को अपहृत नाबालिगा और उसकी हत्या का मामला सुलझाते हुए विनोद नामक युवक को गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक डा अर्पित जैन ने आज बताया कि मामले की गहन के जांच के बाद पुलिस असली कातिल तक पहुंची और वह विनोद ही निकला। असल में पुलिस ने वारदात की प्रारम्भिक जांच के बाद ही विनोद को गिरफ्तार किया था लेकिन मृतका की मां ने अन्य लोगों को साथ लेकर उसे यह कह कर छुड़वा लिया था वह वारदात वाले दिन उसी के पास था। पुलिस अब मृतक युवती की मां और विनोद के बीच गहरे सम्बंध होने की बात कह रही है।

डा. जैन के अनुसार पुलिस अब इस मामले को फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट में लेकर जाएगी ताकि आरोपियों को जल्द सजा मिल सके। उन्होंने बताया की मामले की जांच के लिए ऐलनाबाद के पुलिस उपाधीक्षक जगत सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की गई थी। टीम ने जांच के दौरान महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए घटना में शामिल दो आरोपीयों विनोद और सुरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया।

प्रारम्भिक पूछताछ में पता चला है की आरोपी विनोद का नाबालिगा के घर पर लगभग चार साल से आना जाना था और इसी को लेकर नाबालिगा ने कई बार आपति जताई थी। नाबालिगा को रास्ते से हटाने के लिए आरोपी विनोद ने सुरेंद्र के साथ मिलकर उसका गत 25 सितम्बर को अपहरण कर खेत में ले जाकर उसकी हत्या कर दी तथा शव को कुस्सर गांव क्षेत्र में ले जाकर कपास के खेत में फेंक दिया।

विनोद अविवाहित है तथा गांव में ही खेती बाड़ी का काम करता है। उसके खिलाफ सिरसा जिले के रानिया और शहर थाने में चोरी और डकैती के लगभग सात मामले दर्ज हैं। वह वर्ष 2018 में जेल से बाहर आया था। इसके अलावा सुरेंद्र फर्नीचर का काम करता है। उसके खिलाफ भी चोरी का एक मामला ऐलनाबाद थाने में दर्ज है।