बांग्लादेश में जुल्हास-टोनॉय हत्या मामले में छह को सजा ए मौत

ढाका। बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित एक अदालत ने अमरीका की अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी (यूएसएआईडी) के अधिकारी जुल्हास मन्नान तथा उसके दोस्त टोनॉय मजूमदार की हत्या मामले में छह लोगों को सजा ए-मौत दी है। ढाका की आतंकवाद विरोधी विशेष न्यायाधिकरण अदालत के न्यायाधीश मोजिबुर रहमान ने मंगलवार को सजा सुनाई।

अदालत ने जिन लोगों को मौत की सजा सुनाई है, उनमें सेना के बर्खास्त मेजर सैयद मोहम्मद जियाउल जिया, अकरम हुसैन, मोजम्मेल हुसैन उर्फ सैमोन, अरफात रहमान, शेख अब्दुल्ला और असदुल्ला शामिल हैं। इनमें से सैयद और अकरम फरार हैं।

इसके साथ ही अदालत ने दोषियों को जुर्माना के तौर पर 50-50 रुपए भरने का आदेश दिया है, जिसे अदा नहीं करने पर उन्हें छह महीने और कैद की सजा भुगतनी पड़ेगी। वहीं अदालत ने इस मामले के दो अन्य आरोपियों सब्बीरुल हक चौधरी और मौलाना जुनैद अहमद को बरी कर दिया।

उल्लेखनीय है कि अप्रैल 2016 में कुछ बदमाशों ने राजधानी ढाका के कालाबगान स्थित घर में जुल्हास तथा टोनॉय की हत्या कर दी थी। इसके बाज जुल्हास के बड़े भाई मिन्हाज मन्नान इमोन ने कालाबगान थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया था।