सिटी लेवल एडवाईजरी फोरम की बैठक में एलिवेटेड रोड पर चर्चा

अजमेर। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत केन्द्र सरकार के निर्देशानुसार एवं स्मार्ट सिटी दिशा निर्देशों के प्रावधानों के तहत हाल ही गठित सिटी लेवल एडवाईजरी फोरम की पहली बैठक रविवार को जिला कलक्टर आरती डोगरा की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई।

फोरम के सदस्यों के रूप में शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल, अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिवशंकर हेड़ा, महापौर धर्मेन्द्र गहलोत, स्थानीय स्वयं सेवी संगठन, स्थानीय युवा, विभिन्न विभागों में कार्यरत तकनिकी अधिकारी सहित विशेष आमंत्रित सदस्य अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी एवं जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष दीनबंधु चौधरी भी उपस्थित थे।

बैठक में एलिवेटेड रोड पर खुली चर्चा हुई। जिसमें देवनानी, भदेल, रामचन्द्र चौधरी तथा दीनबंधु चैधरी ने सुझाव दिए। प्रमुख रूप से मार्टिण्डल ब्रिज-एलिवेटेड रोड के जंक्शन पर यातायात में होने वाली संभावित असुविधा को दूर करने के सुझाव दिए गए।

चर्चा के दौरान स्थानीय प्रशासनिक एवं परिवहन अधिकारी तथा ठेकेदार फर्म के विशेषज्ञों ने यह स्पष्ट किया कि इस जंक्शन पर यातायात प्रबंधन के वे सभी उपाय लागू किए जाएंगे, जिससे कि यातायात की किसी को कठिनाई नहीं हों।

एडीए अध्यक्ष हेड़ा ने सुझाव दिया कि एलिवेटेड रोड को महावीर सर्किल से आगे बढ़ाकर बजरंग चौराहे तक कर दिया जाए। लेकिन इसे तकनिकी रूप से सदस्यों ने उचित नहीं माना तथा यह तय किया गया कि महावीर सर्किल से बजरंग चैराहे तक सड़क को अधिक सुविधाजनक बनाया जाएगा।

मार्टिण्डल ब्रिज से ब्यावर रोड की ओर उतरने वाली सड़क के बीच में आ रही दुकानों के बारे में महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ने चर्चा की। जिस पर निर्णय लिया गया कि मार्टिण्डल ब्रिज से काॅलेज चैराहे तक की सड़क पर हो रहे अतिक्रमण हटा कर आवश्यकतानुसार भूमि अवाप्त कर इसे बेहतर करने का कार्य अलग से हाथ में लिया जाएगा। जिसमें आवश्यकतानुसार रेलवे से भी भूमि की पट्टी देने का आग्रह एवं प्रयास किया जाएगा।

देवनानी, भदेल, दीनबंधु चैौरी ने एलिवेटेड रोड का कार्य तत्काल प्रारंभ करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यह शहर की लाईफ लाईन है। इससे व्यापारियों को भी कोई नुकसान नहीं होगा, वरन् लाभ ही होगा।

इससे पहले एलिवेटेड रोड पर बनाई गई एक लघु डाॅक्युमेन्ट्री फिल्म को प्रदर्शित किया गया, जिसमें अजमेर में प्रस्तावित इस एलिवेटेड रोड के प्रमुख बिन्दू यथा लम्बाई, तकनिकी विशेषताएं, होने वाले व्यय आदि की विस्तार से जानकारी दी गई।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी हिमांशु गुप्ता एवं ठेकेदार फर्म के प्रतिनिधि अक्षय हाडा एवं अनुराग मिश्रा ने पावर पाईन्ट प्रजेन्टेशन के माध्यम से डिजाईन एवं निर्माण सामग्री एवं निर्माण की योजना के बारे में जानकारी दी।

इस मौके पर जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह चौधरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर अरविन्द कुमार सेंगवा, यातायात उप अधीक्षक प्रीति चौधरी सहित स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के समस्त अधिकारीगण उपस्थित थे।